आजतक बॉलीवुड में ऐसे बहुत कम ही पुरुष किरदार देखने को मिले हैं जो फेमिनिज्म को सपोर्ट करते है या इस मुद्दे को लेकर सकारात्मक होते है पर  2019 में, हमारे सामने ऐसी बहुत सी फिल्में थीं जिनमे हमे सकारात्मक पुरुष किरदार देखने को मिले हैं ।

image

बॉलीवुड में, “हीरो” उसे कहते हैं जो एक बार में तीस गुंडों की पिटाई करता है और मुसीबत में फंसे लोगो को बचाता है. साल 2019 में हमे ऐसे बहुत से पुरुष किरदार देखने को मिले है जिन्होंने प्रभावशाली युवा पुरुषों के लिए एक आदर्श स्थापित किया है। माचो मैन के स्टीरियोटाइप के खिलाफ लड़कर, संवेदनशील और रियल पुरुष कैरेक्टर्स का होना जरूरी है। 2019 में, हमने ऐसे बहुत से पुरुष कैरेक्टर्स के साथ कुछ फ़िल्में देखीं हैं और आइये जानता हैं ऐसे टॉप पाँच कैरेक्टर्स को :

मुराद, गुल्ली बॉय

मुराद उन अनोखे पुरुष कैरेक्टर्स में से एक हैं जो रियल लोगों की तरह लगते हैं।

ज़ोया अख्तर की फ़िल्म गली बॉयज़ के हीरो मुराद हैं, जो धारावी जिले के एक युवा एस्पायरिंग रैपर हैं। मुराद का चरित्र-चित्रण महत्वपूर्ण है, क्योंकि वह गलतफहमी, माचो रैपर के स्टीरियोटाइप में फिट नहीं है। वह मेहनती है, अपनी प्रेमिका सफीना का सम्मान करता है और संवेदनशील है। वह दुनिया को अलग तरह से देखता है और लोगों तक अपने टैलेंट को पहुंचना चाहते है। एक दृश्य में, वह एक अमीर लड़की को कम्फर्टेबले फील करवा रहे है, जिसके लिए वह एक ड्राइवर के रूप में काम कर रहा है।

साहिल मिर्ज़ा, एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा

साहिल इस फिल्म में एक स्ट्रगलिंग प्लेराइटर हैं. हालाँकि वह सोनम कपूर द्वारा अभिनीत कैरक्टर स्वीटी की तरफ आकर्षित है
लेकिन जब उसे पता चलता है कि स्वीटी महिलाओं के प्रति आकर्षित है, बाकी सभी पुरुष कैरेक्टर्स के विपरीत, वह किसी भी तरह से कोई भी गलत रिएक्शन नहीं देता है। इसके बजाय, वह वही करता है जो सबसे महत्वपूर्ण है – वह स्वीटी का अच्छा दोस्त है। वह उसका साथ देता है और उसकी मदद करता है। फिल्म की कथा को छोड़कर, साहिल का चरित्र अंततः एक्सेप्टेन्स और एम्पथी से भरपूर है।

अयान रंजन, आर्टिकल 15

आर्टिकल 15 में आईपीएस अधिकारी अयान रंजन एक ऐसा कैरक्टर है जो खुद को एक ऐसी दुनिया में पाता है जिसे वह नहीं समझ पाता है. वो एक शहरी, मॉडर्न आदमी है जिसे जातिगत विशेषाधिकार और जाति के मुद्दों के बारे में कुछ नहीं पता है। हालांकि, अयान एक ऐसा चरित्र है जो सीखता है, बढ़ता है और वह जो भी पाता है उससे डर जाता है। वह कोशिश करता है और चीजों को ठीक करता है। वह जल्द ही महसूस करता है कि वह उन सभी को अपने दम पर ठीक नहीं कर सकता है, जो उसे बॉलीवुड फिल्मों में अधिकांश पुरुष पात्रों की तुलना में अधिक मानवीय बनाता है।

आर्टिकल 15 में आईपीएस अधिकारी अयान रंजन एक ऐसा कैरक्टर  है जो खुद को एक ऐसी दुनिया में पाता है जिसे वह नहीं समझता है, हालांकि यह उसके खुद के करीब है।

नरेन चौधरी, स्काई इज़ पिंक

नरेन चौधरी एक ऐसा चरित्र है जो दिलों को छूता है। एक भरोसेमंद आदमी जो सिर्फ अपने परिवार को किसी भी तरह से समर्थन देना चाहता है, यह एक रियल लाइफ पिता का कैरक्टर है। चरित्र वास्तविक और सेंसिबल है। वह एक प्यार करने वाला पिता है, एक सहायक पति है लेकिन वह अपनी खामियों के साथ आता है जो उस संकट का सामना करते हैं जिससे परिवार गुजर रहा है।

Email us at connect@shethepeople.tv