टी एंड सी | गोपनीयता पालिसी

संचालित द्वारा Publive

फ़ीचर्ड ब्लॉग

Bride Refuses To Marry Groom: शादी के वेन्यू पर दूल्हा नशे में धुत पहुंचा, दुल्हन ने किया इंकार और कहा बारात को लौट जाने को

Bride Refuses To Marry Groom: शादी के वेन्यू पर दूल्हा नशे में धुत पहुंचा, दुल्हन ने किया इंकार और कहा बारात को लौट जाने को
SheThePeople Team

12 Nov 2021


Bride Refuses To Marry Groom: इंडियन वेडिंग्स का सीजन शुरू है, और कई लोगों की शादियां हो रही हैं। आज के समय में हमारे देश की लड़कियां अपना जीवन साथी किसे चुना है उसका निर्णय ले सकती हैं। हमारे देश में कई ऐसी घटनाएं हुई हैं जहा लड़कियों ने अपना स्टैंड लिया है और शादी के लिए इनकार किया कई प्रकार के कारणों की वजह से। आज के जमाने में हमारे देश की बेटियां किसी भी चीज का सौदा हल्के में नहीं करती और यह तो फिर पूरी जिंदगी का सवाल है। इसलिए ऐसी ही एक घटना मध्य प्रदेश के राजगढ़ में हुई। 

मध्य प्रदेश, राजगढ़ में क्या हुआ? 

मध्य प्रदेश राजगढ़ में, विवाह स्थल पर नशे में दिखाई देने पर एक दुल्हन ने दूल्हे से शादी करने से इनकार कर दिया। घटना 7 नवंबर को रामगढ़ जिले के सुथालिया में हुई, जहां शादी की तैयारियां पूरी कर ली गई थीं। बारात के वेन्यू पर पहुंचते ही, दूल्हा और उसके दोस्तों सहित कई मेहमान नशे में धुत लग रहे थे। दूल्हा इतना नशे में था कि वह खुद खड़े होने की स्थिति में भी नहीं था। उस समय लड़की वालों ने कुछ नहीं कहा। 

उसके बाद जब दुल्हन मुस्कान शेख ने यह दृश्य देखा, तो उसने शादी से पीछे हटने का फैसला किया और निकाह में बैठने से इनकार कर दिया। उसने अपने परिवार से कहा कि वह किसी से भी शादी करने को तैयार है, लेकिन इस आवारा से नहीं। उसकी चिंता सुनकर परिवार ने उसका पूरा साथ दिया और बरात को वापस आने को कहा। इसके साथ ही पुलिस ने भी लड़की के परिवार का पूरा साथ दिया। 

क्या दुल्हन ने सही किया? 

हर लड़की को अपना जीवन साथी चुनने का अधिकार होता है, और वह अपना पूरा जीवन किसके साथ बिताना चाहती है और किसके साथ नहीं उसका अधिकार है। मुझे नहीं लगता की मुस्कान ने अपनी शादी तोड़कर कोई गलत काम किया क्योंकि अगर एक व्यक्ति शादी से पहले जिम्मेदारी नहीं संभाल और उठा सकता वो व्यक्ति शादी के बाद क्या करेगा। मुस्कान ने एक बहुत ही एहम कदम उठाया था और कई लड़कियों के लिए प्रेरणा बनी।

इसके साथ ही, मुस्कान के पेरेंट्स ने भी एक नई सोच दिखाई और अपनी बेटी का साथ दिया क्योंकि कई बार माता पिता, समाज के डर की वजह से अपने बच्चों को शादी करने के लिए मजबूर करते हैं। इस घटना ने हमे बताया की हमारे देश की लड़कियां अपने लिए निर्णय के सकती हैं और उन्हें उनके लिए क्या बेस्ट है उसका पता है इसलिए अपनी बेटियों का साथ जरूर दें।





अनुशंसित लेख