क्या डबल मास्किंग कोरोना से बचा सकता है? भारत में अचानक COVID – 19 के केसेस की संख्या में बढ़ोतरी होने लगी है। भारत दुनिया में दूसरे नंबर पर कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित देश है। और इस समय भारत अपनी स्वास्थ्य प्रणाली से भी बुरी तरह जूझ रहा है। भारत में इस समय कोरोना की दूसरी लहर चल रही है। जिस वजह से COVID – 19 के मामलों में अचानक वृद्धि देखि जा रही है।

बाहर निकलते समय या भीड़ भाड़ वाली जगह जाते समय तो मास्क पहनना हमारे लिए ज़रूरी था ही लेकिन कुछ रिसर्च में पाया गया है की कोरोना का वायरस हवा में भी मौजूद है। और यही कारण है की यह इतने सारे लोगों को एक साथ प्रभावित कर रहा है।

डबल मास्किंग है क्या ? double masking

कई डॉक्टर्स ने डबल मास्किंग का सुझाव दिया है और अब कई लोग इसका पालन भी कर रहे हैं। डबल मास्किंग एक तकनीक है जिसमे आप एक की जगह दो मास्क लगाते हैं। एक सर्जिकल और दूसरा कपड़े वाला मास्क जो अच्छे से बुना गया हो।

डबल मास्किंग कैसे करें ?

यह करने के लिए आपको एक सर्जिकल मास्क अच्छे से लगाकर उसके ऊपर कपड़े वाला दूसरा मास्क लगाना है। आपको या सुनिश्चित करना होगा की कहीं से भी हवा नहीं निकल रही हो और मास्क अच्छे से आपके मुँह और नाक को ढका हुआ है। डबल मास्किंग से आपको एक और फ़िल्टर की लेयर मिल जाती है। और यह आपको ज्यादा सुरक्षा प्रदान करता है। आप चाहें तो बिना फ़िल्टर वाला N95 मास्क भी लगा सकते हैं।

क्यों ज़रूरी है ?

यह आपको वायरस से बेहतर सुरक्षा देगा। साधारण मास्क आपको 45 % की सुरक्षा देता है। और डबल मास्क आपको 92 % तक की सुरक्षा देता है। इसीलिए इस बढ़ती कोरोना की लहर में डबल मास्किंग अब ज़रूरी है। कई डॉक्टर्स और फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स के मुताबिक यह वायरस अब हवा में भी काफी देर तक रहता है। इसीलिए ज़रूरी नहीं की हम किसी के संपर्क में आएं और तब ही हम संक्रमित हों।

इसलिए अब COVID – 19 की दूसरी लहर से बचने के लिए आपको डबल मास्किंग करना बेहद ज़रूरी है। इससे आप खुद भी बचाएंगे और अपने आस पास वालों को भी। double masking

featured picture credit : NBC news

 

Email us at connect@shethepeople.tv