दुनिया काफी मुश्किल समय से गुजर रही है लेकिन कोई भी जानवरों के प्रति दया और सहानुभूति दिखाने की नहीं सोचता। बहुत कम लोग है जो इन सब के ऊपर भी ध्यान देते हैं , उनमें से एक है – ए. मीना ।

मीना चेन्नई में एक हाउसहोल्ड कुक है और वह अपने 13 कुत्तों को रोज़ाना फीड करती है। लॉकडाउन में खाने की कमी के कारण, मीना दिन में एक बार खाती है ताकि वह कुत्तों को अच्छी तरह से खिला सकें और इस महामारी के दौरान उन्हें सुरक्षित रख सकें।

TOI की एक रिपोर्ट के अनुसार, मीना पिछले 21 सालों से अपने कुत्तों के साथ दो कमरों का घर शेयर करती आई है. लॉकडाउन से पहले , उन्होंने एडवांस सैलरी मांगी ताकि वह चावल और डॉग फूड का स्टॉक भर सकें।

“मैं खाने की बहुत शौकीन नहीं हूं। मुझे जो भी मिलता है मैं अपने कुत्तों के साथ शेयर करती हूं। लेकिन अब मुझे थोड़ा सावधान रहना होगा। मैं दिन में एक बार भोजन करती हूं और बाकी अपने कुत्तों के लिए बचा कर रखती हूं। ”

और पढ़ें – 85 वर्षीय सरोजा सुंदराजन एक्टिविटी पेपर्स बना के कोविड 19 के लिए फंड्स जमा कर रही है

उन्होंने आगे कहा, “मैं खाने की बहुत शौकीन नहीं हूं। मुझे जो भी मिलता है मैं अपने कुत्तों के साथ शेयर करती हूं। लेकिन अब मुझे थोड़ा सावधान रहना होगा। मैं दिन में एक बार भोजन करती हूं और बाकी अपने कुत्तों के लिए बचा कर रखती हूं। ”

वह सट्रे डॉग्स को भी खाना खिलाना पसंद करती हैं । उसने कहा, “मैं बाहर बहुत से कुत्तों को खाना खिलाती थी। लेकिन अब मेरे लिए उन्हें हर दिन खिलाना मुश्किल हो गया है। इसलिए कुछ मेरी तलाश में मेरे घर आते हैं, लेकिन मेरे ‘लोग’ (उसके कुत्ते) उन्हें अंदर नहीं आने देंगे लेकिन मैं जल्द ही इसके लिए कोई सॉल्यूशन निकालने की कोशिश करूंगी। ”

“कुछ एनजीओ ने मुझे चावल और डॉग फूड दिया है। मैं इसके साथ मैनेज कर सकती हूं लेकिन लंबे समय तक नहीं।

और पढ़ें – मिलिए बंगलुरु टीन्स से जो गरीब महिलाओं को सैनिटेशन किट्स दे रही हैं

Email us at connect@shethepeople.tv