देश में कोरोना के अलग-अलग म्युटेंट आने के कारण बार-बार कोरोना पॉलिसी में बदलाव किया जा रहा है। आइए जानते हैं कोरोना वैक्सीन से जुड़ी नई खबरें और नए कोरोना नियमों के बारे में।

कोरोना से रिकवरी के 3 महीने बाद वैक्सीनेशन :

सरकार ने हाल ही में कोविड-19 के लिए बने नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप ऑन वैक्सीनेशन एडमिनिस्ट्रेशन द्वारा कोरोना रिकमेंडेशन व प्रोटोकॉल में बदलाव को स्वीकार कर लिया है ।

इन्हीं प्रोटोकॉल के अनुसार सरकार ने आज कहां की कोविड-19 से रिकवरी के 3 महीने बाद ही वैक्सीन लगानी चाहिए।

हेल्थ मिनिस्ट्री ने क्या कहा ?

नए कोरोना नियमों पर अपनी बात रखते हुए हेल्थ मिनिस्ट्री ने कहा अगर वैक्सीन का पहली डोज लेने के बाद कोरोना संक्रमण हुआ है तो उसे वैक्सीन की दूसरी डोज अपनी रिकवरी के 3 महीने बाद ही लेनी चाहिए।

साथ ही मिनिस्ट्री ने कहा कि जिन लोगों को सीरियस बीमारियां हैं उनको आईसीयू या हॉस्पिटल में रहने के 4 से 8 हफ्तों बाद व्यक्ति लेनी चाहिए।

हेल्थ मिनिस्ट्री की अन्य बातें

  • एक इंसान वैक्सीन लगवाने या कोरोना नेगेटिव होने के 14 दिनों बाद ही रक्त दान कर सकता है।
  • दूध पिलाने वाली माँओं के लिए वैक्सीन ज़रूरी है।
  • वैक्सीन लेने वाले लोगों का रैपिड एंटीजन टेस्ट होने की कोई ज़रूरत नहीं।

देश में 1 मई से 15 जून तक 5 करोड़ 86 लाख कोरोना वैक्सीन निशुल्क  लगाई जाएंगी। साथ ही मिनिस्ट्री ने कहा कि जून के आखिर तक चार करोड़ 87 लाख वैक्सीन दोस्त बनकर तैयार हो जाएंगे।

देश में कोरोना केसेस कम हो रहे हैं लेकिन दूसरी तरफ आज देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1 दिन में दुनिया भर में सबसे ज्यादा आई है। देश में कल 2,67,334 नए कोरोना वायरस केस आये थे।

ऐसे में कोरोना से सावधानी हटाना हम सभी के लिए बहुत घातक साबित हो सकता है इसलिए आप अपने परिवार का अच्छे से ख्याल रखें और नए कोरोना नियमों का ईमानदारी से पालन करें।

Email us at connect@shethepeople.tv