कोरोनावायरस के कारण कई लोग की मौत हो गई, स्कूल बंद हो गए, बाहर जाना बंद हो गया जिसका असर बच्चों के दिमाग पर भी बहुत ज्यादा हुआ हैं। अक्सर बच्चों की मन की बात ना समझ पाने के कारण हम यह नहीं जान पाते कि वह अंदर से डरे हुए है। वहीं महामारी के कारण उन्हें अपनों को खोने का डर बना हुआ है उन्हें लगता है कि वह अपनों से मिल पाएंगे कि नहीं। इसीलिए हमें ध्यान रखना चाहिए कि हम उनके सामने कोई ऐसी वैसी बात ना कर दें जिससे उनके मन का डर और बढ़ जाए। ‌यह उपाय अपनाएं कोविड-19 से डरे बच्चें का ध्यान रखने के लिए

1. डर का कारण पता लगाएं

उनसे बातें करें और पता लगाएं कि उन्हें किस बात से डर लग रहा है और उनके डर को दूर करने की कोशिश करें। दरअसल कोरोनावायरस के कारण उन्हें यह भी लगता होगा कि उनसे सब दूर हो जाएंगे। उन्हें यकीन दिलाएं कि सब ठीक है, कोई उनसे दूर नहीं जा रहा है।

2. नकारात्मक बातें ना करें

कोरोनावायरस से जुड़ी कोई भी नकारात्मक बातें ना करें। वह मासूम होते हैं, उन्हें दुनियादारी की समझ नहीं होती है इसीलिए उन्हें उन्हीं की तरीके से समझाएं। इसके अलावा उनके सामने किसी की मरने की बातें भी ना करें। उनके सामने न्यूज़ भी ना चलाएं। कोरोनावायरस से हो रही मौत की खबर सुनकर उनके दिमाग पर गलत प्रभाव पड़ सकता है।

3. सकारात्मक बातें करें

महामारी के कारण उनके अंदर जो डर बन गया है उसे हटाने के लिए उनसे सकारात्मक बातें करें। जैसे कि कोरोनावायरस खत्म होने के बाद हम सब घूमने जाएंगे। दरअसल बाहर दोस्तों के साथ ना खेल पाने के कारण अकेला भी महसूस कर सकते हैं। इसीलिए उनके साथ खेले, समय बिताए ताकि उन्हें भी अच्छा लगे।

4. दूूसरे कार्यों में व्यस्त कर दें

उन्हें उनकी मनपसंद एक्टिविटीज में व्यस्त कर दें। जैसे कि चित्रकला, डांस या कोई स्टोरी बुक जैसी चीजों में उन्हें व्यस्त रखें। इससे उनका दिमाग विचलित नहीं होगा और ना कोई गलत ख्याल आएगा।

Email us at connect@shethepeople.tv