सरकार ने कोविद की वैक्सीन को फिर से रिव्यु करने का फैसला लिया है। कोविद शील्ड वैक्सीन लगवाने वाले लोगों को ब्लड क्लॉट की शिकायत आ रही है। ये शिकायत खास कर के युवाओं में आ रही है। इंडिया में अब सीरम इंस्टिट्यूट द्वारा बनाई गयी कोविद शील्ड और भारत बायोटिक की कोवाक्सिन को रिव्यु किया जाएगा। इंडिया में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है। इसके चलते केसेस दिन पर दिन बड़ते जा रहे हैं।

1. कोरोना को सरकार क्या कर रही है ?

सभी लोग साल भर से ज्यादा चले आ रहे कोरोना को लेकर अब ढीले पड़ चुके हैं और कैसे भी अपने घरों से बाहर जाना चाहते हैं। लोगों के मन से डर ख़त्म हो गया है और वो कोई भी प्रीकॉशन्स नहीं ले रहे हैं। इसके कारण केसेस दिन पर दिन बड़ते जा रहे हैं। सरकार ने कहा हैं कि अप्रैल 6 से 14 तक एक स्पेशल कैंपेन चलाया जायेगा जिस में 100 प्रतिशत मास्क का इस्तेमाल, खुद का पर्सनल हाइजीन एयर सैनिटेशन को लेकर काम किया जाएगा।

2. कोरोना को हुआ 1 साल से ऊपर

कोरोना वायरस को आए पूरा एक साल से ऊपर हो चुका है और ये थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। अभी पिछले साल सितम्बर में कोरोना थमा ही था कि अब इसकी दूसरी लहर वापस आ गयी है। अब हमें फिर से पहले की तरह सतर्क रहने की जरुरत है। सरकार ने धीरे धीरे कई शहरों में लॉक डाउन, वीकेंड लॉक डाउन और नाईट कर्फ्यू लगा दिया है।

3. कोरोना का सबसे बुरा असर किस स्टेट में हुआ है ?

सबसे बुरा असर कोरोना का महाराष्ट्र पर ही हुआ है। इंडिया के टोटल केसेस में से 50 प्रतिशत केसेस महाराष्ट्र से ही होते हैं। महाराष्ट्र के कैबिनेट मिनिस्टर ने कहा है कि अब पूरे स्टेट में रात को 8 से सुबह 7 बजे तक लॉक डाउन रहेगा। ये 5 अप्रैल से शुरू किया जाएगा। इसके अंतर्गत सिर्फ जरुरी चीज़ें ही चालू रहेंगी जैसे कि मेडिकल सर्विसेस और ट्रांसपोर्टेशन। इस लॉक डाउन के अंतर्गत 5 से ज्यादा लोग इक्कठे खड़े रहना भी अलाउड नहीं रहेगा।

Email us at connect@shethepeople.tv