फ़ीचर्ड

डिजिटल वीमेन अवार्ड्स 2019 – महिलाओं की सफलता का जश्न

Published by
Ayushi Jain

डिजिटल वीमेन अवार्ड्स 2019 इस बार 23 नवंबर, 2019 को गुरुग्राम के क्राउन प्लाजा होटल में आयोजित किये गए । शी दपीपल .टीवी द्वारा आयोजित डिजिटल वीमेन अवार्ड्स एक अवसर है महिला एन्त्रेप्रेंयूर्स को एक नयी पहचान देने का और तो और उन महिलाओं और उनकी सफलता को सम्मानित करने का यह एक सुनहरा अवसर है जिन्होंने डिजिटल प्लेटफार्म पर अपने व्यवसाय को एक नयी पहचान दिलवाई है।

डिजिटल वीमेन अवार्ड्स 2019  में हम मिलेंगे ऐसी महिलाओं से जिन्होंने दुनिया की सारी चुनौतियों का सामना करते हुए अपने व्यवसाय को नई बुलंदियों तक पहुँचाया है ।

डिजिटल वीमेन अवार्ड्स 2019 की अनोखी जूरी

डिजिटल वीमेन अवार्ड्स 2019 के लिए इस बार एक अनोखी जूरी सामने आयी है । आइये तो मिलते है डिजिटल वीमेन अवार्ड्स 2019 की शानदार जूरी से जिसमे शामिल थी एल्सा मैरी डीसिल्वा जो की  रेड डॉट फाउंडेशन की संस्थापक हैं , अकीला उरनकार जो की बिज़नेस स्टैण्डर्ड लिमिटेड की प्रेजिडेंट हैं , दीपाली नायर जो की आईबीएम इंडिया की सीएमओ हैं और आखिर में शिव्या नाथ जो लेखिका और एक ट्रैवेलर भी हैं ।

महिला सशक्तीकरण की एक प्रक्रिया को शुरू करते हुए, रोमा दत्ता चौबे, डायरेक्टर – ट्रैवलर, बीएफएसआई, क्लासीफाइड, गेमिंग, टेल्को एंड पेमेंट्स ने गूगल पर अपने अनुभव साझा किए और बताया कि महिलाएं एक-दूसरे का समर्थन और सशक्तिकरण कैसे कर सकती हैं। उन्होंने शैली चोपड़ा, संस्थापक, शी दपीपल.टीवी  के साथ बातचीत की। डिजिटल वीमेन अवार्ड्स (डीडब्ल्यूए), एक ऐसा दिन जो आवाज़ और दूरदर्शिता के साथ महिलाओं के शानदार उद्यमों का गवाह बनता है, डिजिटल वार्तालाप और इंटरनेट के माध्यम से देश में महिलाओं को सशक्त कैसे बनाया जा सकता है, इस पर बातचीत से बेहतर शुरुआत नहीं हो सकती।

“महिलाओं को अपनी सोच को बढ़ावा देने की और दुनिया में चल रही रूढ़ियों से निपटने के लिए सावधानी से खुद को ऊपर उठाने और सफल होने की आवश्यकता है।”

एक की शक्ति

गूगल के साथ काम करने के लिए , रोमा का मुख्य उद्देश्य एक डिजिटल प्लेटफॉर्म बनाना है जहां एक महिला खुद को संलग्न और सशक्त बना सकती है। गूगल ने महिला सशक्तिकरण की सुविधा के लिए जो अलग -अलग पहल की हैं, उन पर भरोसा करते हुए रोमा ने इंटरनेट साथी की बात की। यह एक ऐसी पहल थी जो 2015 में अधिक महिलाओं को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लाने के उद्देश्य से शुरू हुई थी और इसलिए ऑनलाइन दुनिया में लैंगिक अंतर को ख़त्म करती है।

अन्य महिलाओं के साथ जुड़ने का पहला कदम एक सफल महिला के लिए खुद को पहचानने और बिना किसी हिचकिचाहट के बारे में बात करना है। जैसा कि शैली ने कहा:

“प्रेरक लीडर्स के रूप में, हमारे द्वारा की जाने वाली चीजों में से एक है हमारे नेटवर्क का लाभ उठाना। महिलाएं अब अधिक मुखर हैं और अपनी उपलब्धियों के बारे में आश्वस्त हैं। लेकिन एक महिला को नेटवर्किंग को कितना धकेलना चाहिए ताकि वे किसी भी उपलब्धि को कम करके और अन्य महिलाओं को एक साथ प्रोत्साहित करने के बिना खुद के बारे में बात करने के लिए आश्वस्त हो सकें?”

इंटरनेट साथी के अलावा, उन्होंने कई अलग-अलग पहलों पर भी प्रकाश डाला, जिन्होंने महिलाओं को ऑनलाइन और डिजिटल दुनिया के बारे में ज्ञान प्राप्त करने के लिए और साथ ही साथ अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने का एहसास करवाया।

रोमा ने सही कहा, “यह एक तथ्य है कि महिलाएं अक्सर खुद का प्रतिनिधित्व करती हैं। महिलाओं को कभी भी खुद को पीछे नहीं खींचना  चाहिए। उन्हें अलग-अलग क्षेत्रों के लोगों के साथ जुड़ना, बातचीत करना, आकाओं की तलाश करना और व्यवस्थित तरीके से खुद को बढ़ावा देना चाहिए। कई संगठन और मंच हैं जो महिलाओं को अपनी यात्रा और सफलता की कहानियों के बारे में बोलने की अनुमति देते हैं और मार्गदर्शन करते हैं। महिलाओं को निश्चित रूप से खुद को बढ़ावा देने और अन्य महिलाओं को उभारने के लिए उनका इस्तेमाल करना चाहिए। ”

डिजिटल वीमेन अवार्ड्स 2019 में सोशल इम्पैक्ट, ई-कॉमर्स ,डिसरप्शन, लीडरशिप, कंटेंट और मार्केटिंग जैसी काटेगोरिएस में अवार्ड देकर महिलाओं को उनकी मेहनत और सफलता के लिए सम्मानित किया ।

डिजिटल वीमेन अवार्ड्स यकीनन एक शानदार दिन था जो पूरी तरह से महिलाओं को समर्पित था । इस दिन में ऐसी बहुत -सी चर्चाएं हुई वो भी बहुत ही ख़ास महिलाओं के साथ । अलग -अलग पेनल्स आयोजित किये गए जिनमे एंट्रेप्रेन्योरशिप को बढ़ावा देने के लिए काफी सुझाव आगे रखे गए । नए -नए अवसर मिले इतनी सारी महिलाओं से अलग -अलग क्षेत्र में जुड़ने के लिए ।

डिजिटल वीमेन अवार्ड्स 2019  में इस बार एक ख़ास पेशकश देखने को मिली जिसमे एक परफॉरमेंस लदाख की कुंग फु नन्स द्वारा पेश की गई और उनकी इस परफॉरमेंस ने चार चाँद लगा दिए ।

Recent Posts

महिलाओं के राइट्स: क्यों सोसाइटी सिर्फ महिलाओं की ड्यूटीज से ही रहती है ऑब्सेस्ड?

आज भी सोसाइटी में कई लोगों का ये मानना है कि महिलाओं की सबसे पहली…

2 hours ago

रायसा लील: 13 साल में ओलिंपिक पदक जीतने के बाद सामने आया ये पुराना वायरल वीडियो

टोक्यो ओलंपिक्स में स्केटबोर्डिंग में इस साल ब्राज़ील की रायसा लील ने रजत पदक जीता…

3 hours ago

बंगाल की महिलाओं से जबरजस्ती पोर्न शूट कराया गया, मामला राज कुंद्रा से जुड़ा है

इन में से एक महिला ने कहा कि यह वीडियोस कई वेबसाइट पर पोस्ट की…

4 hours ago

क्यों टूटती हुई शादियों को नहीं मिलती है सोसाइटी की एक्सेप्टेन्स?

हमारे देश में सदियों से शादी को एक "पवित्र बंधन" माना गया है जिसका हर…

4 hours ago

हैप्पी बर्थडे कुब्रा सेठ, जानिए एक्ट्रेस कुब्रा सेठ के बारे में 5 बातें

कुब्रा सेठ इनके कक्कू के रोल के लिए फेमस हैं जो कि सेक्रेड गेम्स में…

5 hours ago

मुंबई: डॉक्टर ने ली थी टीके की दोनों खुराक फिर भी दो बार कोविड रिपोर्ट आई पॉजिटिव

मुंबई के एक 26 वर्षीय डॉक्टर की 13 महीनों में तीन बार पॉजिटिव रिपोर्ट आई…

5 hours ago

This website uses cookies.