Disadvantages Of Caffiene: क्यों है कैफीन युक्त प्रोडक्ट्स का सेवन नुकसानदायक?

Disadvantages Of Caffiene: क्यों है कैफीन युक्त प्रोडक्ट्स का सेवन नुकसानदायक? Disadvantages Of Caffiene: क्यों है कैफीन युक्त प्रोडक्ट्स का सेवन नुकसानदायक?

SheThePeople Team

25 Jan 2022


Disadvantages Of Caffiene: हर वस्तु का अधिक व जररूत से ज़्यादा उपयोग नुकसानदायक होता है चाहे वो पैसा हो या खाने वाली चीज़। आज जहाँ कोई चाय का दीवाना है तो किसी को कॉफ़ी पसंद है और कहीं इन दोनों में से क्या बेहतर है इस पर विवाद चल रहा है पर आपको बता दें इस में पाया जाने वाली कैफीन की हद से ज़्यादा मात्रा सेहत के लिए नुकसानदायक है। लोग इसे एनर्जी ड्रिंक मान कर दिन में 3-4 बार सेवन कर रहे है जो उनके पाचन तंत्र से लेकर मस्तिष्क तक बुरा असर डाल रहा है आईए जानते है कैसे?

1. मस्तिष्क पर करता है असर

शरीर में एंडोसाइन नामक तत्व पाया जाता है जो दिमाग को शरीर की थकावट के बारे में सूचित करता है। कैफीन एंडोसाइन के प्रभाव को रोकता है जिसकी वजह से व्यक्ति का दिमाग सतर्क हो जाता है। उसे नींद व थकान महसूस नहीं होती पर यह अल्जाइमर, सिर दर्द, एंग्जायटी, घबराहट का कारण बन सकता है।

2. पाचन तंत्र पर प्रभाव

दिन में 3 से 4 कप चाय या कॉफ़ी या उससे अधिक सेवन करने से पाचन तंत्र को धीमा होने लगता है। खाना पचाने में दिक्कत होने आती है। गैस, एसिडिटी, ब्लोटिंग की शिकायत हो जाती है। डाइजेस्टिव सिस्टम के लिए 400 मिलीग्राम कैफीन का सेवन सुरक्षित और पचाने में आसान माना गया है।

3. हाई ब्लड प्रेशर

कैफीन की मात्रा शरीर में अधिक होने से ब्लड प्रेशर बढ़ने लगता है, बेचैनी महसूस होने लगती है और दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। जिस व्यक्ति को उच्च रक्तचाप व दिल के रोग है उसे कैफीन युक्त प्रदार्थो का सेवन ना करने की सलाह दी जाती है।

4. नींद का उड़ जाना

लोग रात को कैफीन प्रोडक्ट का सेवन रात भर जागकर काम करने के लिए करते है। ऐसा व्यक्ति अगर रोज़ करने लगे तो एनीमिया का शिकार हो सकता है। रात को नींद ना आने से शरीर और दिमाग दोनों थकावट, चिड़चिड़ापन, डिप्रेशन, चिंता का शिकार हो जाते है।

5. हड्डियाँ कमज़ोर होना

कैफीन की मात्रा शरीर में पानी के प्रभाव को कम करती है जिसकी वजह से पेशाब ज़्यादा आता है। शरीर से पानी के साथ ज़रूरी तत्व, नमक, मिनरल्स जैसे कि कैल्शियम भी बाहर निकल जाता है जिससे हड्डियां कमज़ोर व पतली होने लगती है। इसी लिए इसका अधिक सेवन करने से परहेज करें।


अनुशंसित लेख