जैसा की हम सब जानते है की आजकल कोरोना वायरस का केहर हर जगह फैला हुआ है । जहाँ पहले चंद मरीज़ थे आज यह आंकड़ा ३०००० को पार कर गया है । कोरोना वायरस के कारण भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने पूरे भारत में लॉकडाउन  घोषित कर दिया था । अब लॉक डाउन के कारण हम सब घर में बैठे हैं कही बाहर नहीं जा सकते । घर में बैठे -बैठे भी शाम को कभी -कभी हम अपने अप्पार्टमेन्ट में चक्कर लगाने चले जाते हैं या अपने किसी नज़दीकी मित्र के पास चले जाते हैं । क्या यह सही है ?

अगर आप अपने अप्पार्टमेन्ट में या किसी आस-पास के पार्क में भी चक्कर काटने जाते हैं तो यह बहुत ज़रूरी है की इस खतरनाक वायरस की चपेट में आने से रोकने के लिए इसे बंद कर देना चाहिए ।

लॉकडाउन सिर्फ और सिर्फ घर में रहने के लिए है

कोरोना वायरस काफी खतरनाक और घातक माहमारी है जिसने पूरी दुनिया में तबाही मचाई हैं। इस खतरनाक बिमारी के लिए अब तक कोई भी वैक्सीन या प्रॉपर ट्रीटमेंट सामने नहीं आया है । इससे बचने का सिर्फ एक ही उपाय है और वो है सोशल डिस्टन्सिंग यानी की सिर्फ अपने घर में ही रहना । अगर कोई बहुत ज़रूरी काम हो तभी बाहर जाना चाहिए । यह कोई वेकेशन मोड नहीं चल रहा है यह एक महामारी है जिसने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है । हमे पता ही यही चलता की इस वायरस का कैरियर कौन है । यह वायरस बहुत खतरनाक है और लक्षण दिखने में भी कम से कम 11 या 14 दिन का समय लगता है। सबसे बड़ी बात है की कोई भी चीज़ इस वायरस का कैरियर बन सकती है ।

यह कोई वेकेशन मोड नहीं चल रहा है यह एक महामारी है जिसने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है ।

अगर आप अपने अप्पार्टमेन्ट में या किसी आस-पास के पार्क में भी चक्कर काटने जाते हैं तो यह बहुत ज़रूरी है की इस खतरनाक वायरस की चपेट में आने से रोकने के लिए इसे बंद कर देना चाहिए । घर से बाहर निकलने पर पूरा बैन होना चाहिए और जब कोई बहुत ज़रूरी काम हो तभी बहुत सी प्रीकॉशन्स के साथ जाना चाहिए । लोग इस बीमारी की गंभीरता को नहीं समझ रहे हैं ।

बाहर जाने के बजाये हमे घर पर ही कोई ऐसा अल्टरनेटिव ढूंढ़ना चाहिए जिससे हम बोर न हो । ऐसे बहुत से काम है जिनसे हम खुद को इस लॉक डाउन के समय में बिजी रख सकते हैं ।

Email us at connect@shethepeople.tv