वजाइना महिलाओं के शरीर का एक बहुत जरूरी भाग होता है। आज भी वजाइना को लेकर बहुत सारे गलत मिथ फैले हुए हैं। हम में से आज कोई भी अपने लेडी पार्ट्स के बारे में खुल कर बात करने को तैयार नहीं है। हम सब इस बात से अनजान नहीं हैं कि वजाइना रिप्रोडक्शन और सेक्सुअल सेटिस्फेक्शन के लिए कितना ज़रूरी है। पर अभी भी ऐसी कई बातें हैं जो हम वजाइना के बारे में नहीं जानते।

जानिए अपने वजाइना के बारे में ये 5 बातें

अपने वजाइना को कैसे क्लीन करें?

वजाइना एक सेल्फ-क्लीनिंग ऑर्गन है। इसके अंदर पहले से ही हाइली स्पेशलाइज्ड बैक्टीरिया (गुड बैक्टीरिया) होते हैं, जो वजाइना के pH को मेंटेन रखते हैं। वजाइना में कुछ ग्लैंड्स होती है, जो एक तरह का फ्लूइड डिस्चार्ज करती है अपने आपको क्लीन रखने के लिए। इसलिए हमें कोई भी केमिकल बेस्ड प्रोडक्ट का इस्तेमाल अपने वजाइना को क्लीन करने के लिए नहीं करना चाहिए।

कोई भी सेंट या ग्लिटर वाला साबुन इस्तेमाल करने से, जो अच्छे बैक्टीरिया होते हैं, वे भी मर जाते हैं और हमारे वजाइना का pH लेवल भी खराब हो जाता है। इस वजह से दूसरी तरफ इन्फेक्शन होने की संभावनाएं भी बढ़ जाती है।

क्या वेजाइनल डिस्चार्ज नॉर्मल है?

कई लोगों का मानना है कि अगर आपको वेजाइनल डिस्चार्ज हो रहा है, इसका मतलब किसी प्रकार का इंफेक्शन है या आप अनहेल्दी है। लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। बहुत अलग-अलग तरह के वेजाइनल डिस्चार्ज होते हैं। आपका डिस्चार्ज अगर क्लियर है और नॉन स्टिक की है, उसमें से आपको इचिंग नहीं हो रही है, कोई स्ट्रांग बदबू नहीं आ रही है, तो वह नॉर्मल टाइप का वेजाइनल डिस्चार्ज है।

मेंस्ट्रुअल साइकिल में जब आप के हार्मोन ऊपर-नीचे होते हैं या ओवुलेशन पीरियड के आस-पास या फिर आपके पीरियड्स आने से कुछ दिन पहले, आपका वेजाइनल डिस्चार्ज थोड़ा ज्यादा होने लगता है। अगर इसमें आपको कोई प्रॉब्लम नहीं हो रही है, तो यह नॉर्मल है। इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं कि इसमें कोई इंफेक्शन है।

क्या हाइमन बरकरार होने का मतलब है कि हम वर्जिन है?

हाइमन केवल एक पतला-सा टिश्यू है, जो हमारे वजाइना के एंट्रेंस पर रहता है। बहुत सारी शारीरिक गतिविधियां जैसे साइकिलिंग, जिमनास्टिक और अन्य प्रकार के स्पोर्ट्स आदि के कारण भी आपका हाइमन फट सकता है।

कई महिलाएं ऐसी होती हैं, जिनके अंदर हाइमन होता ही नहीं है या फिर इनकंप्लीट होता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि वे वर्जिन नहीं है।

क्या बार-बार सेक्सुअल इंटरकोर्स से वजाइना लूज हो जाता है?

नहीं यह बिल्कुल भी सच नहीं है। हमारा वजाइना मसल्स से बना हुआ होता है। सेक्सुअल अराउजल या डिलीवरी, चाइल्डबर्थ के समय पर यह अपने आपको स्ट्रेच कर लेता है। उसके बाद ये फिर से टाइट होकर अपनी पोजीशन पर आ जाता है। तो यह कहना गलत होगा कि बार-बार सेक्सुअल इंटरकोर्स से हमारा वजाइना लूज होता है।

क्या वजाइना की अपनी एक स्मेल होती है?

वजाइना की अपनी खुद की एक पर्टिकुलर स्मेल होती है, जो कि नॉर्मल है। हम सभी के शरीर में पसीना और हार्मोनल इनफ्लुएंस के कारण यह बदबू आ सकती है। इसमें कुछ छुपाने वाली बात नहीं है और नाही इस स्मेल को दूर करने के लिए केमिकल बेस्ड प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने की। परंतु अगर आपको कोई दूसरी अजीब स्मेल आती है, तो अपने डॉक्टर के पास जाएं।

Email us at connect@shethepeople.tv