ऐस एथलीट मान कौर हाल ही में पूरे 105 साल की हो गईं हैं। उनके चलने का तरीका अभी भी स्टेबल है और उनकी सोल अनब्रेकेबल  है। जैसा कि कोई व्यक्ति 93 साल की उम्र में खेल की चुनौतीपूर्ण दुनिया में आये, और तब से कई रिकॉर्ड और वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने के लिए आगे बढ़ता जा रहा है, कौर ने कहा – मन, शरीर,आत्मा और उम्र की कोई बाधा नही होती है। एथलीट मान कौर

एथलेटिक्स के लिए उनका प्यार उनके रास्ते में आने वाली सभी बाधाओं से परे है। वह जिस स्पोर्ट्स स्पिरिट के साथ जीती हैं सब उसे पाने की इमेजिनेशन करते हैं। हर उम्र के लोग उनसे प्रेरित होते हैं, जिसमें फिटनेस गुरु मिलिंद सोमान भी शामिल हैं जिन्होंने उन्हें इस उत्साहजनक जन्मदिन की शुभकामनाएं भी दी थी।

जानिए 105 वर्ष की मान कौर कैसे हमें फिटनेस गोल्स दे रही हैं :

1.कौर ने 93 वर्ष की उम्र में स्पोर्ट्स में जाने के लिए उनके ऑक्सोजेरियन बेटे गुरदेव सिंह (83) ने प्रेरित किया था। “आपको कोई समस्या नहीं है, कोई घुटने की समस्या नहीं है, ना ही कोई दिल की समस्या है, आपको दौड़ना शुरू करना चाहिए,” उन्होंने यह बताते हुए कहा।

2.उन्होंने अपना पहला मैडल 2007 में चंडीगढ़ मास्टर्स एथलेटिक्स मीट में जीता। वह इस दौड़ में भागी, इसे पूरा करने के लिए एक भावना जो सिर्फ एथलीट ही समझ सकते हैं ।

3.2016 में, उन्होंने वैंकूवर में अमेरिकन मास्टर्स गेम्स में 100-मीटर की जम्प लगाकर एक मिनट और 27 सेकंड में एक बार गोल्ड मैडल जीता। अगले साल, वह न्यूजीलैंड के ऑकलैंड में वर्ल्ड मास्टर्स गेम्स में 100 मीटर में गोल्ड मैडल = हासिल करने के लिए अपने स्वयं के विश्व रिकॉर्ड को तोड़कर दुनिया की सबसे तेज सेंटेनरियन बन गई।

4.पिछले साल 104 साल की उम्र में, उन्हें अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर प्रतिष्ठित नारी शक्ति पुरस्कार (महिलाओं के लिए सर्वोच्च नागरिक सम्मान) से सम्मानित किया गया था। उन्हें 2 लाख रुपये और सेर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया गया था।

5.एथलीट मान कौर को दौड़ने से ज्यादा स्पोर्ट्स में इंटरेस्ट हैं। ऐसा लगता है कि कोई भी खेल उन्हें पसंद नहीं है, क्योंकि वह ऑकलैंड के स्काई टॉवर के टॉप पर चलने वाली दुनिया की सबसे बुजुर्ग व्यक्ति हैं और उन्होंने जेवलिन थ्रो और शॉट पुट में मैडल जीते हैं। एथलीट मान कौर

Email us at connect@shethepeople.tv