लाईफगार्ड का अनोखा अंदाज़ हुआ वायरल, 95 साल की महिला के साथ बीच पर मस्ती

लाईफगार्ड का अनोखा अंदाज़ हुआ वायरल, 95 साल की महिला के साथ बीच पर मस्ती लाईफगार्ड का अनोखा अंदाज़ हुआ वायरल, 95 साल की महिला के साथ बीच पर मस्ती

SheThePeople Team

22 Oct 2021


Group Of Lifeguard Goes Viral: बीच पर मस्ती करते हुए तो आपने सभी को देखा होगा। समंदर के किनारे, तेज़ हवाएं और चेहरे पर पड़ती सूरज की तेज़ किरण; अगर किसी को ऐसा माहौल मिल जाये तो क्या कहने। यूएसए के अलबामा में स्थित ऑरेंज बीच और भी इन दनों लोग अपनी वेकेशन का खूब लुत्फ़ उठा रहें हैं। लेकिन अलबामा का ये बीच हाल ही में किसी खास कारण से ट्रेंड कर रहा है। इसकी वजह बने हैं वहां के लाइफगार्ड्स का एक ग्रुप।

Group Of Lifeguard Goes Viral: 95 साल की महिला के साथ बीच पर मस्ती 

लगभग हम सभी को समंदर से और तटों से प्यार तो होता ही हैं। सबसे ज्यादा मज़ा तो गीली रेत में पैरों को दबाने का आता है। बस कुछ इसी तरह का मज़ा लेने और समंदर को महसूर करने के लिए डॉटी श्नाइडर नाम की महिला भी अलबामा के ऑरेंज बीच पर पहुंची। डॉटी दरअसल 95 साल की हैं और उनकी फिजिकल कंडीशन इतनी बेहतर नहीं कि वो खुद चल कर बीच तक आ सकें या हवाओं का आनंद ले सकें। ऐसे में उनकी मदद करने के लिए, ऑरेंज बीच के लाइफगार्ड्स का एक ग्रुप सामने आया, जिन्होंने डॉटी को गॉड में उठा कर बीच की सैर कराई और समंदर का आनंद उठाने में डॉटी की मदद भी की। 

Group Of Lifeguard Goes Viral: पुरे हफ्ते महिला ने लाइफगार्ड्स के साथ एन्जॉय किया वेकेशन

दरअसल, डॉटी और उसका पूरा परिवार लगभग एक हफ्ते के लिए ऑरेंज बीच के रिसोर्ट में ठहरा था। इन पुरे हफ्ते के दौरान, लाइफ गार्ड ने डॉटी को सुबह की सैर तो करवाई ही साथ ही उन्हें गोद में उठा कर, उनके पैरों पर रेत को महसूस कराया और कई तस्वीरें भी क्लिक करवायीं। उन्हीं दिनों की तस्वीरों में से कुछ को ऑरेंज बीच के ऑफिसियल पेज पर अपलोड किया गया, जिसे कई लोगों ने पसंद किया और इस तरह उनका पोस्ट वायरल हो गया। Click Here

फोटो पोस्ट करके उन्होंने कैप्शन में लिखा कि, "डॉटी श्नाइडर ने हाल ही में 95 साल की उम्र में ऑरेंज बीच में समुद्र तट का आनंद लेने की उम्मीद में हमसे मुलाकात की, लेकिन वो अपने दम पर रेत पर नहीं चल सकती थीं। एक सप्ताह के लिए हर दिन लाइफगार्ड्स डॉटी को गॉड में उठा कर तट की सैर करते थे और समुद्र तट तक उनकी कुर्सियां ले जाने में डॉटी के परिवार की मदद भी करते थे। यहीं नहीं, बल्कि दिन ख़त्म होने पर डॉटी को वापस रिसोर्ट लेकर जाने की जिम्मेदारी भी लाइफगार्ड्स ने अपने हाथों में रखी थी।

 


अनुशंसित लेख