आजकल वैलेंटाइंस डे का चलन कितना बढ़ गया है, यह तो आप जानते ही होंगे। कभी रोज़ डे, कभी प्रपोज डे, कभी चॉकलेट डे, कभी टेडी डे-पूरा हफ्ता मानो प्यार का त्यौहार बन चुका है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह त्यौहार कितने साल पुराना है और कहां से शुरू हुआ था? आइए जानते हैं इस त्यौहार की हिस्ट्री के बारे में:

image

सेंट वेलेंटाइन की डेथ एनिवर्सरी

जी हां, वैलेंटाइंस डे से जुड़ी काफी कहानियां हैं। कुछ लोग मानते हैं कि यह उत्सव सेंट वेलेंटाइन की डेथ एनिवर्सरी के रूप में मनाया जाता है। सेंट वेलेंटाइन एक ऐसे रोमन चर्च के पुजारी थे जो प्यार करने वालों की छुपकर शादियों करवाते थे। वे ऐसा इसलिए करते थे क्योंकि उस वक्त के राजा का मानना था कि सैनिक अच्छे से लड़ाई कर सकते हैं अगर उन पर कोई जिम्मेदारी ना हो तो। इसलिए वह उन्हें शादी नहीं करने देते थे।

ऐसे में सेंट वेलेंटाइन छुप कर ऐसे प्रेमी जोड़ों की शादियां करवाते थे। इस वजह से राजा ने उन्हें मौत की सजा दी। तभी से लोग उनकी शहीदी को याद करके वैलेंटाइंस डे मनाते हैं। कई लोग इसे सेंट वैलेंटाइंस डे भी कहते है।

लूपरकालिया की पागन सेलिब्रेशन को क्रिश्चियनाईज़ करना 

वहीं दूसरी ओर, कुछ लोग यह मानते हैं कि क्रिश्चियन चर्च वैलेंटाइंस डे फरवरी के मध्य में इसलिए मनाते हैं ताकि वह लूपरकालिया की पागन सेलिब्रेशन को क्रिश्चियनाईज़ कर सकें। रोम में मनाए जाने वाला यह एक ऐसा उत्सव है जो वहां पर सप्रिंग के मौसम की शुरुआत दर्शाता है।

लूपरकलिया पहले पहले तो क्रिश्चियनों का उत्सव माना जाने लगा लेकिन बाद में उसे सेंट वैलेंटाइंस डे का नाम दे दिया गया। क्या जानते हैं, वैलेंटाइंस डे ना सिर्फ युनाईटेड स्टेट में बल्कि मैक्सिको, कनाडा, किंगडम, फ्रांस व ऑस्ट्रेलिया में भी मनाया जाता है। यही नहीं, 17वीं सेंचुरी के समय वैलेंटाइंस डे ग्रेट ब्रिटेन में मनाया जाने लगा था। 18वीं सेंचुरी के मध्य तक दोस्तों व प्रेमियों के बीच यह काफी कॉमन हो गया था कि वह एक दूसरे को खुद से लिखे गए पत्र व गिफ्ट दिया करते थे।

आप यह जानकर हैरान रह जाएंगे कि ग्रीटिंग कार्ड असोसिएशन के मुताबिक आज के समय में करीब 145 मिलियन ग्रीटिंग कार्ड्स वैलेंटाइन डे पर भेजे जाते हैं, जिसमें से की 85% कार्ड महिलाएं खरीदतीं हैं।

Email us at connect@shethepeople.tv