कोरोनावायरस के सेकंड वेव की शुरुआत के बाद से बच्चों में COVID-19 इन्फेक्शन तिगुना या चौगुना हो गया। बहुत से राज्यों में ऑफलाइन क्लासेज के लिए स्कूल्ज खुलने के बाद से ही बच्चों में इन्फेक्शन की रफ़्तार तेज़ हो गयी है। ऐसे में पेरेंट्स के बीच काफी ज़्यादा टेंशन का माहौल है की वो अपने बच्चे के करियर और फ्यूचर पर ज़्यादा ध्यान दे या फिर उनकी हेल्थ पर। रिपोर्ट्स के अनुसार इस प्रॉब्लम का एक ही सोल्यूशन है की बच्चों की इम्मयूनिटी पर ध्यान देना और उन्हें स्ट्रांग बनाना।

आजा हम बात करेंगे कोविड के दौरान हम बच्चो की इम्मयूनिटी को कैसे स्ट्रांग बना सकते हैं।

  • कोशिश करें और उनकी डाइट में फल और सब्जियां शामिल करें। उन्हें ताज़ा कटे हुए सलाद, सूप और स्ट्यू ज़्यादा खिलाये। मौसमी फलों और सब्जियों को शामिल करना बहुत आवश्यक है क्योंकि वे ज़रूरी न्यूट्रिशन और न्यूट्रिएंट्स के अच्छे सोर्स हैं। कोशिश करें और डाइट में फ्रूट्स और सब्जियों के सभी रंगों को शामिल करें क्योंकि इसमें शरीर के लिए ज़रूरी विटामिन और न्यूट्रिएंट्स का एक अच्छा अमाउंट शामिल होगा। विटामिन सी से भरपूर फ़ूड आइटम्स जैसे कि खट्टे फल, जिंक से भरपूर फ़ूड आइटम्स, जैसे साबुत अनाज, बेक्ड बीन्स और नट्स को डाइट में शामिल करने का ध्यान रखें। ये वायरल इन्फेक्शन से सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं।
  •  बच्चों को ताजा पका हुआ भोजन यानी घर का बना खाना, खाने की सलाह दी जाती है, क्योंकि यह बच्चों के लिए पौष्टिक और स्वास्थ्यकर होगा, जिससे उनमे इन्फेक्शन का खतरा कम होगा। दही जैसे दूध और दूध बेस्ड प्रोडक्ट्स को डाइट में जोड़ने से अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद मिलेगी, और विटामिन डी के साथ फोर्टिफाइड भोजन भी एक उपयोगी योगदान हो सकता है।
  • प्रोसेस्ड और अर्टिफिशियली कलर्ड फ़ूड से बचें, क्योंकि उनमें सैचुरेटेड फैटी एसिड, शुगर्स और साल्ट्स की हाई अमाउंट होती है। शुगर युक्त ड्रिंक से बचें। इसके बजाय, उन्हें नींबू पानी ज़्यादा पिलाएं, खीरे या जड़ी बूटियों जैसे पुदीने की पत्तियों और पार्सले बच्चों को हाइड्रेट करने के लिए शानदार तरीके हैं। सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा दिन भर में आठ से 10 कप पानी पीता  है। रोज़ाना उनकी डाइट में दूध, ताजा खट्टे फलों का रस, नारियल पानी आदि भी शामिल हो सकते हैं।
  • खाना खाने के लिए एक रेग्युलर टाइम-टेबल  का पालन करना, जैसे परिवार एक साथ भोजन करना, स्वस्थ पारिवारिक समय को बढ़ावा दे सकता है। खाने के समय टीवी या किसी भी प्रकार की स्क्रीन देखने से बचें। बच्चों के लिए भोजन को मजेदार बनाने के अवसर का उपयोग करें, इसलिए वे स्वस्थ और पौष्टिक आहार खाएं। भोजन का टाइम-टेबल बनाते समय उन्हें अपनी पसंद बनाने में मदद करें और डिसीजन मेकिंग प्रोसेस का हिस्सा बनाएं।
Email us at connect@shethepeople.tv