इजरायल-फिलिस्तीन कॉन्फ्लिक्ट पर कंगना रनौत ट्रोल : एक्ट्रेस कंगना रानौत ने इजरायल के सपोर्ट में इंस्टाग्राम स्टोरीज में कदम रखा और गाजा पर अपने हमलों में सेना कैसे सही है उस पर अपने विचार शेयर किये। उन्होंने कहा, “भारत इज़राइल के साथ खड़ा है। जो लोग सोचते हैं कि आतंकवाद का जवाब धरने और कड़ी निंदा  से दिया जाना चाहिए उन्हें इजरायल से सीखना चाहिए। ”

रिपोर्ट्स के अनुसार नेटिज़ेंस, रानौत से परेशान हैं और  उन्हें ट्विटर पर “बर्डब्रेनड” और “पैथेटिक ” जैसे शब्दों से स्लैम कर रहे हैं ।

पिछले कुछ दिनों से इस्राइल और फ़िलिस्तीन सिविल वॉर की कगार पर हैं। लेटेस्ट बमबारी और हवाई हमलों ने गाजा में कई फिलिस्तीनियों को मार डाला है, जिसमें एक भारतीय महिला सौम्या संतोष भी शामिल है। साउथ इजरायल के कोस्टल सिटी अश्कलोन में एक बुजुर्ग महिला के घर पर रॉकेट गिरने से 32 वर्षीय महिला की मौत हो गई थी।

कई तस्वीरें हवाई हमले और रॉकेट हमलों को दर्शाती हैं। जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। इस पर रानौत का इजरायल और उसके दृष्टिकोण का समर्थन करते हुए देखा गया  कि “कट्टर इस्लामिक आतंकवाद की लड़ाई के खिलाफ भारत इजरायल के साथ है” और उन्होंने बड़े पैमाने पर ट्विटर पर नाराजगी जताई। एक यूजर ने उन्हें लिखा, “क्या यह बर्डब्रेन, पैथेटिक और इस्लामोफोबिक # कंगना रनौत जानती भी  है कि आतंकवाद क्या है? रमजान की सबसे पवित्र रात के दौरान, लैलत-अल-क़दर 300 भक्तों को घायल किया गया था और इस मूर्ख के लिए वो निहत्थे भक्त  क्रूर आतंकवादी थे।

एक पाकिस्तानी एक्ट्रेस माया अली कंगना की स्टोरी को दोहराने के लिए इंस्टाग्राम पर गयी और लिखा, “मुझे आपके लिए दुःख है। मैं बस यही कह सकती हूँ की आप जल्दी ठीक हो @kanganaranaut कम से कम कुछ इंसानियत हर किसी में होनी चाहिए। ”  #PalestenianLivesMatter

एक अन्य व्यक्ति ने लिखा, “आपको फिलिस्तीनियों के लिए खड़े होने के लिए मुस्लिम होना ज़रूरी नहीं है, बस आपको इंसान होना चाहिए। और जो वह नहीं है। ऐसा ही कहता है #KanganaRanaut का ट्वीट। ”

प्लेटफार्म के नियमों का उल्लंघन करने के लिए उनके ट्विटर अकाउंट को स्थायी रूप से ससपेंड किए जाने के बाद रनौत ने हाल ही में सुर्खियां बटोरीं। हाल ही में, इंस्टाग्राम ने उनके एक पोस्ट को हटा दिया जिसमें उन्होंने कोरोनावायरस को “स्मॉल-टाइम फ्लू” कहा था।

Email us at connect@shethepeople.tv