आयरन क्या है और किस लिए जरुरी होता है ?

कितनी आयरन हो सकती है सेहत के लिए नुकसान दायक ? आयरन एक मिनरल होता है जो हमारे शरीर मे हीमोग्लोबिन में मिलकर ब्लड का लेवल स्थिर बनाने में मदद करता है। अगर इस का स्तर सामान्य से नीचे जाता है तो हमारे शरीर में खून की कमी आ जाती है। महिलाओं के लिए आयरन खासतौर पर फायदेमंद होता है पीरियड्स की वजह से ज्यादातर महिलाएँ अनैमिआ नामक बीमारी का शिकार होती हैं ये बीमारी खून में आयरन की कमी से होती है। आयरन सेहत

डॉक्टर क्यों है कितनी आयरन जान ने के लिए जरुरी ?

आजकल गूगल के ज़माने में अपने आप से बाजार से कई तरीके के विटामिन्स और मिनरल्स लेना आम बात हो गयी है। ऐसा करने से हम लापरवाह होतें है और कोई भी दवाई बिना किसी लिमिट और उसके साइड-इफेक्ट्स जाने लेना गलत है।

आयरन की लिमिट्स और नुक्सान ?

आयरन के हाई डोज़ बहुत ज्यादा नुकसानदायक होता है। 14 साल से ऊपर के बच्चे और बढ़ो के लिए आयरन कि लिमिट एक दिन में 45 mg तक होती है। 14 साल से कम के बच्चे के लिए हमेशा लिमिट 40 mg से कम ही रखनी चाइए। आयरन की गोली कभी भी खली पेट नहीं ली जाती क्योंकि इससे गैस की दिक्कत होजाती है इसको हमेशा खाने खानेके 20 -30 मिनट के बाद ली जाती है। कभी भी आयरन और कैल्शियम की गोली साथ में नहीं ली जाती इस से आयरन के ब्रेक-डाउन में रुकावट होती ह।

आयरन की मात्रा ज्यादा होने पर कुछ ये लक्षण होते हैं –

थकान
सांस फूलना
स्टैमिना कम हो जाना
नाखून और आँखें पीली पड़जाना
पेट दर्द
उलटी
घबराहट होना
ब्लड प्रेशर डाउन होना
लूस मोशंस होना
बॉडी में काफी मात्रा में एसिड बनना

कई रिसर्च और डॉक्टर्स का कहना है की आयरन हमेशा प्राकृतिक तरीके से ही लेना चाइए। इसके लिए पत्तेदार सब्जी खाएं, फिश , एग सोयाबीन, राजमा और किसमिश खाएं। आयरन सेहत

Email us at connect@shethepeople.tv