वेटेरन म्यूसिक कंपोजर राम लक्ष्मण का शनिवार 22 मई को नागपुर में उनके घर पर कार्डियक अरेस्ट के कारण निधन हो गया। लता मंगेशकर ने ट्वीट कर दिवंगत संगीतकार को दी श्रद्धांजलि

रिपोर्ट्स के अनुसार समाचार एजेंसी पीटीआई ने पुष्टि की कि संगीतकार राम लक्ष्मण का 78 वर्ष की आयु में 22 मई को हार्ट बीट रुकने से निधन हो गया। लक्ष्मण के बेटे अमर पाटिल ने पीटीआई को अपने पिता की मृत्यु की खबर की पुष्टि करते हुए कहा, “उन्होंने छह दिन पहले COVID -19 वैक्सीन, कोविशील्ड की दूसरी डोज़ ली थी। उस समय कोई समस्या नहीं थी लेकिन जब वे घर आए तो उनमें कमजोरी आ गई। उनके पैरामीटर गिर रहे थे। डॉक्टर घर पर ही इलाज कर रहे थे। शनिवार तड़के करीब 2 बजे उनका निधन हो गया। उन्हें कार्डिएक अरेस्ट हुआ था।”

सिंगर लता मंगेशकर ने ट्विटर पर अपनी संवेदना और दुख व्यक्त करते हुए कहा, “मुझे अभी पता चला की बहुत गुणी और लोकप्रिय संगीतकर राम लक्ष्मण जी (विजय पाटिल) का स्वर्गवास हुआ। ये सुनके मुझे बहुत दुख हुआ।” (राम लक्ष्मण जी के निधन की खबर से मन बहुत दुखी हुआ)

मंगेशकर ने अपने ट्वीट में वेटेरन म्यूज़िक कंपोजर की एक अच्छे इंसान होने की प्रशंसा की। उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने उनके साथ कई गानों पर काम किया जो बहुत प्रसिद्ध हुए।

एक्टर सलमान खान ने भी अपने ट्वीट के जरिए राम लक्ष्मण को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने लक्ष्मण के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की। “मैंने प्यार किया, पत्थर के फूल, हम साथ साथ हैं, हम आपके हैं कौन जैसी सफल फिल्मों के म्यूज़िक कंपोजर राम लक्ष्मण का दुखद निधन हो गया है। उनकी आत्मा को शांति मिले। शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना”, उन्होंने ट्वीट किया।

राम लक्ष्मण कौन थे?

लक्ष्मण एक भारतीय संगीतकार थे। उनका जन्म विजय पाटिल के नाम से हुआ था और उन्होंने राम लक्ष्मण की जोड़ी में लक्ष्मण का नाम अपनाया था। 1976 में जब उनके साथी सुरेंद्र नहीं रहे, तो उन्होंने अपने साथी के सम्मान में पूरा नाम लिया।

लक्ष्मण ने हिंदी, मराठी और भोजपुरी भाषा में 200 से अधिक फिल्मों के लिए गाने तैयार किए। वह चार दशकों से अधिक समय तक इंडियन म्यूज़िक इंडस्ट्री का हिस्सा थे।

Email us at connect@shethepeople.tv