सेक्स करते टाइम एन्जॉय करने का हक़ सबका होता है। हालाँकि, कभी कभी हमारा शरीर सेक्स के लिए तैयार होने के बावजूद भी कुछ ऐसे फ्लूइड या लिक्विड नहीं बना पाता जो उसे बनाने चाहिए। ऐसी सिचुएशन में काम आते हैं ल्यूब। अगर आप भी यही सोच रहे हैं कि ल्यूब क्या होता है, तो आइये हैं है इसके बारे में इस आर्टिकल से –

ल्यूब क्या होता है ?

ल्यूब, जिसको लुब्रीकेंट भी कहते हैं, एक लिक्विड (liquid) या फिर एक जेल (gel) है जिससे सेक्स करते टाइम फ्रिक्शन और इर्रिटेशन कम की जाती है। आप ल्यूब का इस्तेमाल किसी भी प्रकार का सेक्स करते टाइम कर सकते हैं। चाहे वो पेनो – वजाइनल (Penis + Vagina) इंटरकोर्स हो, एनल सेक्स हो , मास्टरबेशन हो या फिर सेक्स टॉय (पार्टनर के साथ या पार्टनर की बिना) के साथ ही क्यों न हो, आप ल्यूब को सबके साथ इस्तेमाल कर सकते हैं।

हालाँकि, सभी लोगों का शरीर सेक्स करते टाइम खुद का नेचुरल लुब्रीकेंट तो बनाता ही है। लेकिन कभी कभी वो नेचुरल लुब्रीकेंट सेक्स के लिए काफी नहीं पड़ता। ऐसी कंडीशन में लुब्रीकेंट का इस्तेमाल करना कोई गलत बात नहीं है। वैसे , लुब्रीकेंट का इस्तेमाल करने से सेक्स में और मज़ा भी आ सकता है।

ल्यूब किस तरीके के होते हैं ?

ल्यूब 3 प्रकार के होते हैं –

1 पानी के : पानी पे आधारित ल्यूब का इस्तेमाल करना बहुत सेफ माना जाता है। ये कंडोम (condom) और सेक्स टॉयज के साथ इस्तेमाल करने का सबसे अच्छा ल्यूब होता है। इसे आसानी से साफ किया जा सकता है , और तो और इसका हमारी त्वचा पे भी कोई ख़राब असर नहीं होता है। हालाँकि , ये वाला ल्यूब बाकी ल्यूब के मुकाबले ज़्यादा देर तक नहीं चलता है।

2 तेल के : ये वाला ल्यूब कंडोम (condom) और सेक्स टॉयज के साथ इस्तेमाल करने के लिए बिलकुल सही नहीं होता। ऐसा इसलिए क्योंकि तेल latex के लेवल को कम कर सकता है, जिसकी वजह से कंडोम का इस्तेमाल सही से नहीं होगा। ये वाला ल्यूब तब अच्छा काम करेगा जब त्वचा से त्वचा का कांटेक्ट होगा।

3 सिलिकॉन के : इसे कंडोम (condom) के साथ यूज़ करना सेफ माना जाता है लेकिन सिलिकॉन के बने हुए सेक्स टॉयज के साथ इसे ना इस्तेमाल करे। ये वाला ल्यूब पानी के ल्यूब के मुकाबले ज़्यादा देर तक चल सकता है।

इस आर्टिकल में हमने जाना कि ल्यूब क्या होता है।

Email us at connect@shethepeople.tv