Madhya Pradesh Damoh Case: माइनर लड़कियों को बारिश के लिए किया गया टारगेट, कैसी है यह प्रथा?

Madhya Pradesh Damoh Case: माइनर लड़कियों को बारिश के लिए किया गया टारगेट, कैसी है यह प्रथा? Madhya Pradesh Damoh Case: माइनर लड़कियों को बारिश के लिए किया गया टारगेट, कैसी है यह प्रथा?

SheThePeople Team

07 Sep 2021

Madhya Pradesh Damoh Case- यह मामला बनिया गाँव का है जो कि दमोह डिस्ट्रिक्ट से 50 किलोमीटर दूर है और यह उत्तरप्रदेश के बुंदेलखंड रीज़न में आता है। कल एक मामले सामने आया दमोह का जहाँ 6 माइनर लड़कियों को नग्न कर के उनकी परेड कराई गयी। यह न्यूज़ सभी जगह आग की तरह फेल गयी है और इस पर पुलिस और चाइल्ड राइट्स अपनी कार्यवाही कर रहे है। ऐसे मामले जब भी सामने आते हैं कुछ समय बाद यह दब जाते हैं और इन पर कोई स्ट्रिक्ट कार्यवाही नहीं हो पाती है।

1. डिस्ट्रिक्ट के कलेक्टर का नाम S कृष्णा चैतन्य है और इन्होंने कहा कि जब गॉंव वालों से इस मैटर को लेकर बात की गयी तब उनको इस में कुछ गलत ही नहीं लगा और किसी ने भी इसके बारे में कम्प्लेन नहीं की है।

2. इन लड़कियों ने परेड करते वक़्त इन्होंने खाना पीसने वाली मशीन ले रखी थी और यह घर घर जाकर खाना जैसे कि दाल और आटा मांग रही थीं।

3. इसके बाद यह सब खाना इक्कठा करने के बाद विलेज के टेम्पल भी डोनेट किया गया था।

4. आजकल माइनर के ऊपर केसेस बढ़ते जा रहे हैं कल एक मामले सामने आया दमोह का जहाँ 6 माइनर लड़कियों को नग्न कर के उनकी परेड कराई गयी।

5. ऐसा करने के पीछे इन्होंने रीज़न दिया कि ऐसा बारिश के भगवन को खुश करने के लिए किया गया है।

6. नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ़ चाइल्ड राइट्स ने दमोह के डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन को इस मामले को लेकर रिपोर्ट देने को कहा है।

7. ऐसी परिस्तिथि का इलाज यही है कि गाँव वालों को इसके बारे में बताया जाए और उनका थोड़ा दिमाग खोला जाए।

8. जब गाँव के किसी इंसान को इतना बड़ा काम करना गलत तक नहीं लगता है इसका मतलब है उनकी सोच को सुधारने की जरुरत है।भगवान की पूजा बारिश के लिए करना गलत नहीं है लेकिन उसके लिए किसी लड़की को नग्न करना गलत है खास कर की जब लड़की माइनर हो।

अनुशंसित लेख