मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल की पत्नी नितिका कौल ढौंडियाल ने शार्ट सर्विस एग्जामिनेशन और इंटरव्यू क्लियर कर लिया है और अब इंडियन आर्मी में शामिल होने के लिए मेरिट लिस्ट का इंतजार कर रही है। एक साल पहले 35 वर्षीय मेजर विभूति ढौंडियाल ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादियों के ज़बरदस्त गोलीबारी के बाद अपनी जान दे दी थी। उनकी पत्नी अब उनके नक्शेकदम पर चल रही हैं और रिपोर्ट के अनुसार जल्द ही वो यूनिफार्म पहनने के लिए तैयार हैं।

image

उनकी शादी को एक साल भी नहीं हुआ था जब 28 वर्षीय नितिका को उनके पति के निधन की खबर मिली।

निकिता ने अपने पति की मृत्यु के छह महीने बाद एस एस सी फॉर्म भरा और इसे वो अपने जीवन का मकसद बनाना चाहती है। वे कहती हैं, “जब मैंने एग्जाम लिखा और इंटरव्यू दिया, तो मैं महसूस कर सकती थी कि जब उन्होंने अपनी एसएससी लिखी होगी तो वह क्या महसूस कर रहे होंगे। मैं उसके साथ, उनके डर और उनकी चिंता से जुड़ी थी। इसी वजह ने मुझे ताकत दी। ”28 वर्षीय निकिता को अपने पति के निधन की खबर मिली तब उनकी शादी को एक साल भी नहीं हुआ था। एक दिल दहला देने वाले संदेश में, उन्होंने विदाई देते हुए कहा, उन्होंने लोगों को मजबूत और सहानुभूतिपूर्ण नहीं होने के लिए कहा।

निकिता ने अपने पति की मृत्यु के छह महीने बाद एसएससी फॉर्म भरा और इसे अपने जीवन का लक्ष्य बनाया

“मैंने क्वालीफाई करने के लिए बहुत मेहनत की। अब मैं एक साल की ट्रेनिंग में उत्कृष्टता हासिल करना चाहती  हूं। मैं एक अधिकारी बनना चाहती हूं, जिस पर सभी को गर्व हो, विभु गर्व कर सके। ढौंडियाल चेन्नई में ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी में शामिल होने के लिए जल्द ही दिल्ली में अपनी एमएनसी नौकरी छोड़ने जा रही है।

मैंने टेस्ट और इंटरव्यू क्वालीफाई करने के लिए बहुत मेहनत की। अब मैं एक साल की ट्रेनिंग में उत्कृष्टता हासिल करना चाहती हूं। मैं एक ऐसी अधिकारी बनना चाहती हूं जिस पर सभी को गर्व हो, विभु को गर्व हो।

निकिता ने यह फैसला लिया है। उन्होंने आगे कहा, “इंटरव्यू बोर्ड ने मुझसे पूछा कि मेरी शादी कब हुई। मैंने कहा, ‘दो साल’। उन्होंने कहा, ‘लेकिन हमने सुना है कि आप दोनों की शादी को नौ महीने ही हुए थे ‘। मैंने कहा, विभु शारीरिक रूप से यहां नहीं हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हमारी शादी खत्म हो गई है। ’’

Email us at connect@shethepeople.tv