शेफाली वर्मा भारत की सबसे यंग क्रिकेट की स्टार हैं। यह हरयाणा के रोहतक की रहने वाली हैं। सर्फ 15 साल की उम्र में ही इन्होंने क्रिकेट में अपनी जर्नी काफी आगे बढ़ा ली है। यह हम सबके लिए एक प्रेरणा भी है। आइये शेफाली वर्मा के बारे मेजन कुछ और बातें जाने।

image

शेफाली वर्मा इंटरनेशनल लेवल पे इंडिया को रेप्रेसेंट करने वाली पहली क्रिकेटर है जो उनके आइडल सचिन तेंदुलकर का भी रिकॉर्ड तोड़ती है।

जानिए इनके बारे में कुछ बातें -:

  • शेफाली सर्फ 10 साल की थी जब क्रिकेट में उनका इंटरेस्ट जगा। यह बोला जाता है कि घर प्राइमरी टीचर होता है, कुछ वैसे ही शेफाली के पिता की भी क्रिकेटर बनना था और इंडिया को रेप्रेसेंट करना था। पर अब उनका यह सपना शेफाली पूरा कर रही है।
  • स्मृति मंधाना के साथ उनका 143 रनों का रिकॉर्ड भी था ।
  • शेफाली ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ इसी साल टी20 मैच सीरिया में अपनी शुरुआत की , दूसरे टी20 में उन्होंने शानदार 36 रन बनाए और अभी ही अपना पांचवा टी20 खेलते हुए उन्होंने एक बार फिर अपने आइडल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। 15 साल की उम्र में ये सबसे पहली मेडेन हाफ-सेंचुरी को तोड़ने वाली प्लेयर बानी। इससे पहले ये रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर ने 16 साल की उम्र में बनाया था।

शेफाली वर्मा जैसे खिलाड़ी सभी युवा क्रिकेटरों के लिए इंस्पिरेशन हैं। टीम में ऐसे खिलाड़ियों का होना रक रिलीफ है, क्यूंकि हमें यह पता है कि टीम की डोर अच्छे हाथों में ही जाएगी।

  • उन्हीने 49 गेंदों में 73 रनों की इनिंग्स खेलकर मन ऑफ़ थे मैच ऑफ़ खिताब हासिल किया। उनकी इनिंग्स में 4 छक्के और 6 चूजे शामिल थे, जिससे दर्शकों को इनिंग्स के साथ कुछ पावरफुल फिरेवोर्क्स भी देखने को मिले ।
  • शेफाली ने डोमेस्टिक लेवल पर हरयाणा की महिलाओं को रेप्रेसेंट किया था और जयपुर में इस साल आयोजित होने वाली महिला टी20 टूर्नामेंट में वेलोसिटी के लिए भी खेली थी ।
  • उन्होनें बताया कि उनके आइडल मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर हैं।

शेफाली वर्मा जैसे खिलाड़ी सभी युवा क्रिकेटरों के लिए इंस्पिरेशन हैं। टीम में ऐसे खिलाड़ियों का होना रक रिलीफ है, क्यूंकि हमें यह पता है कि टीम की डोर अच्छे हाथों में ही जाएगी।

Email us at connect@shethepeople.tv