हमारे मूड स्विंग का वैसे कोई खास कारण नहीं होता। हर किसी का अलग-अलग वजहों से मूड बिगड़ता है। जैसे मैं अपनी बात करूं, तो मुझे अगर कोई ज़रा-सा चिढ़ के बोल दे, तो मेरा मूड इतना खराब होता है कि उस व्यक्ति से सब रिश्तें ही तोड़ दूं। इसी तरह हर किसी का मूड स्विंग होने की तरह-तरह की वजह होती हैं। लेकिन, मूड स्विंग के लिए हार्मोन असंतुलन के अलावा मेंटल हेल्थ ठीक ना होने जैसी समस्या भी जिम्मेदार हो सकती हैं। इसलिए पहले हमें यह समझना होगा कि मूड स्विंग आखिर होता क्या है? आइये जानते हैं मूड स्विंग के उपाय (mood swing ke upaay) और लक्षण।

image

क्या है मूड स्विंग?

मूड स्विंग यानि ‘बाइपोलर डिसऑर्डर’। मन का अचानक या अत्यधिक परिवर्तन ही मूड स्विंग कहलाता है। यानि मन जब एकाएक खुशी और उत्साह के पलों से अत्यधिक दुख या डिप्रेशन में या किसी अन्य भावना में चला जाता है, तो उस सिचुएशन को ही मूड स्विंग कहते हैं। कुछ मामलों में मूड परिवर्तन आपके वातावरण या परिस्थितियों की प्रतिक्रियाएं यानि रिएक्शन भी होती हैं। लेकिन अन्य मामलों में यह बिना किसी स्पष्ट कारणों के भी हो सकती हैं।

इससे निपटने के लिए व्यक्ति को परिवार और दोस्तों आदि की जरूरत पड़ती है। हालांकि ज्यादातर मामलों में अब मूड स्विंग की समस्या का इलाज हो जाता है और इसे दवाई से ठीक किया जा सकता है। लेकिन इन सबके बावजूद हमें इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए।

पहचानिए मूड स्विंग को इन 10 लक्षणों से

1. बेवजह दुखी रहना,
2. ऊर्जा में कमी आना,
3. एक्टिव ना रहना,
4. इच्छा में कमी रहना,
5. आत्मविश्वास में कमी आना,
6. स्वभाव में चिड़चिड़ापन,
7. हर समय थकान लगना,
8. बहुत ज्यादा भूख लगना,
9. अनियमित माहवारी,
10. सांस फूलना आदि।

जानिए मूड स्विंग को काबू करने के ये 5 आसान उपाय (mood swing ke upaay)

1. हेल्दी खाने से करें दोस्ती

यह बात सौ प्रतिशत सही है कि जो कुछ भी हम खाते हैं, उसका सीधा असर हमारी सेहत और सीरत पर पड़ता है। ‘सीरत’ को एक तरह से हम हमारे मूड से जोड़कर देख सकते हैं। भले ही हमें खाने में तला-भुना, चटपटा बेहद भाता हो पर इस बात को हम नकार नहीं सकते कि ऐसी डाइट हमारी सेहत में कोई खास योगदान नहीं देती। लिहाजा अपनी डाइट में शुगर, कार्बोहाड्रेट, फैट आदि सीमित मात्रा में ही लें।

2. नियमित व्यायाम

महिलाएं अगर अच्छी दिखें, तो आधा मूड तो उनका वैसे ही ठीक हो जाता है, बाकी बचा हुआ कोई तारीफ कर दे तो उससे..!! तो मेरी सखियों, अगर मूड खराब रहने की समस्या हो तो रोजाना व्यायाम को अपने जीवन का हिस्सा बनाइये।

व्यायाम करने से शरीर में ‘एंडोर्फिन हार्मोन’ बढ़ता है। यह हार्मोन मूड तो ठीक करता ही है, प्लस इससे अच्छी नींद भी आती है और जब 8 घंटे की चैन की नींद आएगी तो, मूड तो अपने आप ही ठीक हो जाएगा।

3. पानी पीओ खूब

एक कहावत है ‘बिन पानी सब सून’। तो बात कुछ ऐसी है कि बिना प्यास पानी पीने वाला व्यक्ति के पास आधे रोग तो वैसे ही नहीं आते! क्योंकि पानी हमारी सिर्फ प्यास ही नहीं बुझाता, बल्कि हमारे शरीर को अंदर से क्लीन भी करता है।

मन जब बहुत खराब हो, या अच्छा सा ना लग रहा हो तो मौसम के हिसाब से गरम या ठंडे पानी से कुछ देर नहा लें, आप तुरंत ही अच्छा महसूस करेंगी। इसके अलावा शिकंजी बनाकर आराम से एक-एक सिप लेकर पियें। शिकंजी वैसे भी ‘मूड टि्वस्टर’ मानी जाती है। इससे मन भी शांत होगा। मूड स्विंग के उपाय का ये सबसे बेस्ट उपाय है।

4. म्यूजिक बना देगा मूड

मूड ठीक करने में व्यायाम अगर असरकारक है, तो अच्छा संगीत जादूगर। जब मन बेवजह उदास हो तो ऐसे में अच्छा म्यूजिक ‘मूड लिफ्ट’ करने का काम करता है। लेकिन अगर आप डांसिग का शौक भी रखती हैं तब ‘तो सोने पे सुहागा’। एक अच्छा सा डांस नंबर लगाकर, बिना किसी खास डांस स्टेप के जब डांस किया जाता है ना? पसीना आने तक, खुद को थका देने तक, सांस फूलने तक। उस एक्सपिरीयंस से हल्का और अच्छा कुछ नहीं होता।

5. सुगंधित माहौल

हम सभी जानते हैं, अच्छी महक यानि खूशबू ना सिर्फ थकान दूर करती है बल्कि ‘मूड अपलिफ्टमेंट’ का काम भी करती है। इसलिए जब भी डल महसूस करें, घर में रूम फ्रेशनर छिड़कें। ताजे खुशबूदार फूल वास सजाएं।

हो सकता है सुनने में यह आइडिया अजीब लग रहा हो लेकिन अच्छी महक या खूशबू हमारे अशांत मन को शांत करने का काम करती है, जिससे हम अचानक से अच्छा फील करने लग जाते हैं। इसलिए घर में अरोमा कैंडल आदि जला कर रखें, यह आपका खराब मूड झट से ठीक कर देंगी।

ये सब मूड स्विंग के उपाय आपके मूड स्विंग को ज़रूर ठीक करेगी बस आप इन्हें चांस तो दीजिए।

Email us at connect@shethepeople.tv