इसकी पूरी संभावना है कि टेलीविज़न पर आपने शीबा चड्ढा के परफॉरमेंस को ज़रूर नोटिस किया होगा। आपमें से कुछ लोगों ने उन्हें कुछ हिट फिल्म्स जैसे की दम लगा के हईशा, बधाई हो में देखा होगा। शीबा बहुत से टेलीविज़न शोज और ऑनलाइन वेब सीरीज में भी देखा होगा। शायद आप उन्हें लंबे समय से पीड़ित मोहिनी के रूप में जानते होंगे, जिनके सपने बंदिश बंदिट्स में क्रूरता से बिखर गए थे, ताजमहल 1989 से मुमताज जिनके अतीत से बचने के असफल रहे, या हाल ही में, पगलैट में उषा,जिसने  अपने 20 साल के बेटे को खो दिया। रिपोर्ट्स के अनुसार शीबा ने अपने अनोखे एक्टिंग स्किल्स से स्क्रीन पर एक शानदार छवि बनाई है।

पर क्या आप जानते हैं की शीबा की अब तक की जर्नी आसान नहीं रही है, आइये जानते हैं उनके बारे में कुछ ज़रूरी लाइफ फैक्ट्स।

  • चड्ढा का जन्म 1973 में दिल्ली में हुआ, जहाँ उन्होंने रंगमंच के प्रति रुचि पैदा की और एक्टिंग की वर्कशॉप्स शुरू कीं।
  • उन्होंने हंस राज कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से इंग्लिश लिटरेचर में पढ़ाई की।
  • शीबा ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत 90s की बॉलीवुड फिल्म दिल से और हम दिल दे चुके सनम से की थी।
  • शीबा बहुत सारे टेलीविज़न शोज और सीरियल्स का भी हिस्सा रह चुकी हैं। काफी सालों तक टीवी का हिस्सा रहने के बाद उन्होंने ओटीटी प्लेटफार्म को चुना और अब वो बहुत सारी वेब सीरीज का हिस्सा बन चुकी हैं।
  • साल 2011 में, वह अभिनेता रितुराज सिंह के साथ गिबबेरिश शार्ट फिल्म, प्रोबेट हट याद में दिखाई दी। फिल्म ने रिवर टू रिवर में शॉर्ट फिल्म्स केटेगरी में ऑडियंस चॉइस अवार्ड जीता। वह साल 2012 की फिल्म तालश में निर्मला नाम की एक सेक्स वर्कर के रूप में दिखाई दीं। वर्ष 2015 में शरत कटारिया की दम लगा के हईशा में नैन तारा तिवारी (बुआजी) के रूप में एक शानदार मोड़ के साथ नज़र आयी।
  • टेलीविजन पर उनकी शुरुआत साल 2002 में लव मैरिज से हुई थी, उसके बाद, उन्होंने 2007 में कस्तूरी में एक बिजनेस टाइकून की भूमिका निभाकर टेलीविजन पर वापसी की। इसके बाद ना आना इस देस लाडो, कितनी मोहब्बत है, कहानी सात फेरों की, कुछ तो लोग लॉग कहेंगे और लाखो में एक जैसे टीवी शोज शामिल हैं।
  • हाल ही में बॉलीवुड फिल्म पगलैट में अपनी गज़ब एक्टिंग के लिए उन्होंने काफी तारीफे बटोरी हैं।
Email us at connect@shethepeople.tv