पीरियड्स हर महिला के लिए हर महीने कई चुनौतियां लेकर आते हैं। किसी को असहनीय दर्द होता है तो किसी को काम करने में दिक्कत होती है। कभी कभी हमें पता नहीं होता है और हम वही काम करते हैं जिस से पीरियड्स में दिक्कत बड़ सकती है। पीएमएस यानि कि पीरियड आने के पहले होने वाले बदलाव जैसे कि शारीरिक, मानसिक और व्यावहारिक। पीरियड्स मूडी और इमोशनल

1. पीएमएस होता क्यों है ?

पीएमएस हमारे बॉडी में आ रहे बदलाव के कारण होता है। एक पीरियड से दूसरे पीरियड तक हमारे शरीर में कई बदलाव होते हैं। किसी किसी का शरीर अंदर से इतना मजबूत नहीं होता है कि वो पीएमएस झेल सके इसलिए उन्हें इतनी दिक्कतें होती हैं।

2. पीएमएस के सिम्पटम्स क्या होते हैं ?

पीएमएस के वक़्त आपको उलटी जैसा लग सकता है, क्रैम्प्स होते हैं, मूड बहुत गुस्से वाला रहता है, पेट में गुड़गुड़ होना, कमर के नीचे साइड दर्द होता है।  इसके अलावा भी आपको कई सिम्पटम्स हो सकते हैं जैस कि –

1. नींद आने में दिक्कत होना

2. कंसंट्रेशन कम कर पाना

3. सैड और होपलेस फील होना

4. बहुत सारा खाना खाने का मन होना

5. रोने का मन होना

6. ब्रैस्ट में स्वेलिंग होना और सेंसिटिव होना

7. सर दर्द होना

आप अक्सर सोचते होंगे कि जब भी आप के पीरियड्स आते हैं तब आप इतना ज्यादा इमोशनल और मूडी क्यों महसूस करते हैं। ऐसा हमारी बॉडी में आ रहे बदलाव के कारण होता है। हार्मोनल बदलाव से हमें हर चीज़ ज्यादा महसूस यानि कि फील होने लगती है। इस के कारण हम ज्यादा रियेक्ट करने लगते हैं।

75 प्रतिशत महिलाएं पीरियड आने के कुछ दिनों पहले मूड स्विंग्स से गुजरती हैं। उनको पीरियड के दौरान हर एक रिएक्शन तेज़ी से आता है। इसलिए आपने देखा होगा आपकी मम्मी महीने के पांच दिन आपकी बहुत ज्यादा बैंड बजाती हैं और आपको समझ नहीं आता होगा कि ऐसा क्यों हो रहा है।

Email us at connect@shethepeople.tv