PM Modi's Decision To Repeal 3 Farm Laws: पीएम मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का निर्णय सुनाया

PM Modi's Decision To Repeal 3 Farm Laws: पीएम मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का निर्णय सुनाया PM Modi's Decision To Repeal 3 Farm Laws: पीएम मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का निर्णय सुनाया

SheThePeople Team

19 Nov 2021


PM Modi's Decision To Repeal 3 Farm Laws: प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (आज) सुबह 9:00 बजे राष्ट्र को संबोधित किया। एक आश्चर्यजनक यू टर्न में, प्रधान मंत्री ने तीन कृषि सुधार कानूनों को रद्द करने का फैसला किया है, जिन्होंने किसानों द्वारा लगभग एक साल के बड़े पैमाने पर विरोध को जन्म दिया था। उन्होंने कहा कि इसका प्रोसेस अगले महीने खतम होगा। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या कहा? 

प्रधान मंत्री मोदी ने आज सुबह 9 बजे घोषणा की, "कि सरकार ने तीन कृषि कानूनों को रद्द करने का फैसला किया है। श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व के अवसर पर राष्ट्र को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, आने वाले संसद सेशन में सरकार ने इन कृषि कानूनों को खतम करने के लिए कॉन्स्टीट्यूशनल मेजर्स लिए जायेंगे, पार्लियामेंट सेशन अगले महीने शुरू होंगे। इतना ही नहीं, पीएम ने यह भी कहा कि सरकार किसानों के कल्याण के लिए कमिटेड है, उन्होंने कहा कि सरकार छोटे किसानों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं लाई है।" 

"गुरु नानक जी ने कहा था, 'विच दुनिया सेव कमिये, तन दरगाह बेसन पाए'। इसका अर्थ है कि राष्ट्र सेवा का मार्ग अपनाकर ही जीवन अच्छा चल सकता है। लोगों के जीवन को आसान बनाने के लिए सरकार सेवा की भावना के साथ काम कर रही है।" पीएम मोदी ने कहा। 

https://twitter.com/LiveLawIndia/status/1461550112740560896?s=20

बॉलीवुड हस्तियों और विपक्षी राजनीतिक दलों ने इस निर्णय पर क्या कहा?

पीएम मोदी के फैसले पर कई लोगों ने अपनी टिप्पणी di। कुछ ने सराहना की वही कुछ ने निंदा। बॉलीवुड हस्तियों और राजनेताओं जैसी कई अन्य प्रसिद्ध हस्तियों ने अपने सोशल मीडिया का सहारा लिया और उसी पर अपनी राय दी। तापसी पन्नू इस फैसले की सराहना करने वालों में सबसे पहले थीं। उन्होंने इसे गुरु नानक जयंती पर सभी को शुभकामना देने के अवसर के रूप में भी लिया। तापसी पन्नू ने भी किया ट्वीट, "यह भी... गुरपुरब दी सब नू बधाइयाँ।"

https://twitter.com/taapsee/status/1461546915879739402?s=20

रिचा चड्ढा ने अपने ट्विटर पर लिखा, "जीत गए आप! आप की जीत में सब की जीत है।" इसके साथ ही सोनू सूद ने भी कहा, "यह एक अद्भुत खबर है! कृषि कानून वापस लेने के लिए धन्यवाद नरेंद्र मोदी जी। शांतिपूर्ण विरोध के माध्यम से उचित मांगों को उठाने के लिए किसानों को धन्यवाद। आशा है कि आज आप श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व पर अपने परिवारों के साथ खुशी-खुशी लौटेंगे।" 

कंगना रनौत ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर स्टोरी डाली और इस निर्णय का विरोध करते हुए कहा, "दुखद, शर्मनाक और बिल्कुल अनुचित....अगर सड़क पर लोगों ने कानून बनाना शुरू कर दिया है और संसद में चुनी हुई सरकार ने नहीं, तो यह भी एक जिहाद राष्ट्र है... ऐसे चाहने वालों को बधाई।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने स्वास्थ्य केंद्रों के फैसले की सराहना की, लेकिन मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर बात सुनाई और कहा, "देश के अन्नदाता ने सत्याग्रह से अहंकार का सर झुका दिया। अन्याय के खिलाफ यह जीत मुबारक हो। जय हिंद, जय हिंद का किसान।" 

https://twitter.com/RahulGandhi/status/1461550273185255424?s=20

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लिखा, हर एक किसान को मेरी हार्दिक बधाई, जिन्होंने लगातार संघर्ष किया और उस क्रूरता का सामना नहीं किया जिसके साथ @BJP4India ने आपके साथ व्यवहार किया। यह तुम्हारी जीत है! इस लड़ाई में अपने प्रियजनों को खोने वाले सभी लोगों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है।

किसानों ने इस जीत को कैसे सेलिब्रेट किया? 

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का एक समूह जश्न मनाते देखा गया। किसान जिंदाबाद के नारे के साथ मनाया किसानों न जश्न। भारतीय किसान संघ के नेता राकेश टिकैत ने कहा, "आंदोलन तत्काल वापस नहीं होगा, हम उस दिन का इंतजार करेंगे जब कृषि कानूनों को संसद में रद्द किया जाएगा। सरकार एमएसपी के साथ-साथ किसानों के दूसरे मुद्दों पर भी बातचीत करें।"

https://twitter.com/ANI/status/1461553667316731911?s=20





अनुशंसित लेख