कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ भारत सरकार का टीकाकरण अभियान शुरू हो चुका है। भारत में सभी लोग भारत बायोटेक की बनी स्वदेशी कोवैक्सीन को ही अपना रहे हैं और इसकी शुरुवात खुद भारत के प्राइम मिनिस्टर मोदी ने की है। मोदी ने सबसे पहले सभी राजनैतिक नेताओं से पहले कोवैक्सीन का पहला डोज़ लिया है और सभी भारत वासियों से उनके ट्विटर के ज़रिये वैक्सीन लगवाने की विनती की है। आज हम बात करेंगे कि किस किस पॉलिटिशियन ने वैक्सीन लगवाली है –

प्राइम मिनिस्टर मोदी

मोदी ने उनका डोज़ दिल्ली के AIIMS अस्पताल में लिया और उसकी तस्वीर भी सबके साथ ट्विटर पर साँझा की। भारत बायोटेक की बनी स्वदेशी कोवैक्सीन सभी सरकारी अस्पतालों में मुफ्त में दी जाएगी और निजी अस्पतालों में ज्यादा से ज्यादा 250 रुपये तक में दी जाएगी।

मोदी के बाद

प्राइम मिनिस्टर मोदी के बाद ये वैक्सीन गृह मंत्री अमित शाह ने लगवाई। इसके बाद अन्य नेता जैसे कि एस जयशंकर, जीतेन्द्र सिंह और शरद पवार ने भी लगवाई।

आम जनता को कैसे मिलेगी ?

इसको लगवाने के लिए आम जनता को पहले रजिस्ट्रेशन करने की जरुरत है। यह रजिस्ट्रेशन को-विन पोर्टल के ज़रिये या फिर आरोग्य सेतु एप से किया जा सकता है। बिहार की सरकार ने वादा किया है की वो बिहार के प्राइवेट अस्पतालों में भी मुफ्त में वैक्सीन उपलब्ध कराएंगे। ऐसा भारत के सिर्फ एक ही स्टेट में होगा।

वैक्सीन लगवाने के बाद के साइड इफेक्ट्स क्या हैं ?

जब आप वैक्सीन का पहला डोज लगवाने जाएंगे तो उसके बाद आप को हल्का बुखार, इंजेक्शन वाली जगह पर दर्द और शरीर में दर्द होगा। ये वैक्सीन का बॉडी पर असर होने के करण होगा जिस से आप घबराएं ना।

वैक्सीन के बाद क्या नहीं खाएं –

वैक्सीन लगने के बाद इन चीज़ों को बिलकुल भी ना खाएं।
शुगर ड्रिंक्स और प्रोसेस्ड फ़ूड
एनर्जी ड्रिंक्स
फ़ास्ट फ़ूड और दारू

Email us at connect@shethepeople.tv