जानिए प्रेगनेंट ना होने के ये 5 कारण

Published by
Nayan yerne

माना जाता है कि किसी बीमारी के कारण ही महिलाओं को गर्भधारण करने में दिक्‍क्‍त आती है लेकिन ऐसा नहीं है। कुछ आदतों की वजह से भी कंसीव करने में देरी हो सकती है। प्रेग्नेंट न होने के कारण

मां बनना औरत के लिए सबसे खुशी का पल होता है। लेकिन आजकल की निष्क्रिय जीवनशैली, काम में व्‍यस्‍तता और फाइनेंशियल व बायोलॉजिकल कारणों की वजह से अधिकतर महिलाओं को गर्भधारण करने में दिक्कत आ रही हैं। कई मामलों में फर्टिलिटी से जुड़ी कोई बीमारी न होने पर भी महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती हैं और रिपोर्ट्स ठीक आने पर भी उन्‍हें समझ नहीं आता है कि प्रेगनेंट होने में क्‍या प्रॉब्‍लम आ रही है?

अगर आपको भी सब कुछ सही होने पर भी प्रेगनेंट होने में दिक्‍कत आ रही है तो इसके कुछ अलग कारण हो सकते हैं। यहां पर हम आपको उन्‍हीं कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं।कंसीव करने में महिलाओं का वजन बहुत मायने रखता है। अगर आपका वजन कम या ज्‍यादा है तो इससे आपकी कंसीव करने की क्षमता पर बुरा असर पड़ता है। ओवरवेट या बहुत पतला होना आपकी फर्टिलिटी और मासिक चक्र को प्रभावित करता है। गर्भधारण करने की कोशिश कर रही हैं तो नियमित वॉक या योग करें और हरी सब्जियों एवं मौसमी फलों का सेवन करें।

ये हैं प्रेगनेंट ना होने के 5 कारण (pregnant na hone ke karan)

नींद का पैटर्न

पर्याप्‍त नींद न लेने पर इम्‍यून सिस्‍टम पर नकारात्‍मक असर पड़ता है और कई मामलों में ये स्‍ट्रेस का भी कारण बनता है। स्‍ट्रेस की वजह से मासिक चक्र बिगड़ जाता है और नींद की कमी के कारण थकान होने लगती है। वहीं पुरुषों में भी नींद की कमी से शुक्राणुओं की संख्‍या कम हो सकती है जो कि गर्भधारण करने में दिक्‍कत पैदा कर सकता है। आठ से दस घंटे की नींद लेना जरूरी है।

अंडरगार्मेंट टाइट होना

कई महिलाएं बॉडी को शेप में रखने के लिए लैटेक्‍स या बॉडी शेपर पहनती हैं। अगर आप मां बनने की कोशिश कर रही हैं तो ऐसे टाइट कपड़े बिलकुल न पहनें। इनका प्रजनन अंगों पर नकारात्‍मक असर पड़ता है। आरामदायक और हवादार कपड़े पहनने चाहिए।

तनाव

तनाव, एंग्‍जायटी और डिप्रेशन महिलाओं के मासिक चक्र और प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालते हैं। पुरुषों में भी स्‍ट्रेस के कारण स्‍पर्म काउंट कम होने लगता है। तनाव से दूर रहें और हमेशा खुश रहने की कोशिश करें। ध्‍यान और योग की मदद ले सकते हैं।

​प्रदूषण

आपको जानकर हैरानी होगी कि पर्यावरणीय प्रदूषण महिलाओं और पुरुषों की फर्टिलिटी पर बहुत बुरा असर डालता है। धूम्रपान, कार्सिनोजन या सिगरेट के धुएं के संपर्क में आने से गर्भधारण की संभावना कम हो जाती है। महिलाओं को धूम्रपान बिलकुल नहीं करना चाहिए।

बहुत ज्‍यादा या कम सेक्‍स करना

कई बार जल्‍दी गर्भधारण करने के लिए कपल्‍स बहुत ज्‍यादा सेक्‍स कर लेते हैं जिससे थकान घेरने लगती है और बिना उत्‍सुकता के किए गए संभोग से गर्भधारण के रास्‍ते बंद होने लगते हैं। वहीं ओवुलेशन के समय पर सेक्‍स न करने से भी कंसीव करने में दिक्‍कत आती है। प्रेग्नेंट न होने के कारण

Recent Posts

Big Boss 15 : पति Karan Mehra संग विवादों के बाद क्या Nisha Rawal बिग बॉस 15 शो में नज़र आएगी ?

अभिनेत्री और डिजाइनर निशा रावल जो पति करण मेहरा के साथ अपने विवाद के बाद…

54 mins ago

क्या आप Dial 100 फिल्म का इंतज़ार कर रहे हैं? इस से पहले देखें ऐसी ही 5 रिवेंज थ्रिलर फिल्में

एक्ट्रेस नीना गुप्ता की जल्दी ही नयी फिल्म आने वाली है। गुप्ता और मनोज बाजपेयी…

1 hour ago

Viral Drunk Girl Video : पुणे में दारु पीकर लड़की रोड पर लेटी और ट्रैफिक जाम किया

इस वीडियो में एक लड़की देखी जा सकती है जिस ने दारु पी रखी है…

2 hours ago

Tokyo Olympic 2021 : क्यों कर रहे हम टोक्यो ओलंपिक्स में महिला एथलिट को सेलिब्रेट?

इस बार के टोक्यो ओलिंपिक 2021 में महिला एथलिट ने साबित कर दिया है कि…

2 hours ago

TOKYO ओलंपिक्स 2020 : अदिति अशोक कौन हैं? क्यों हैं यह न्यूज़ में?

भारतीय महिला गोल्फर अदिति अशोक पहली बार सबकी नज़र में 5 साल पहल रिओ ओलंपिक्स…

3 hours ago

Delhi Cantt Minor Girl Rape : दिल्ली कैंट में माइनर दलित लड़की का रेप किया और जान से मारा

माइनर दलित लड़की का रेप - नई दिल्ली जिसे हमारी इंडिया की रेप कैपिटल कहा…

3 hours ago

This website uses cookies.