माना जाता है कि किसी बीमारी के कारण ही महिलाओं को गर्भधारण करने में दिक्‍क्‍त आती है लेकिन ऐसा नहीं है। कुछ आदतों की वजह से भी कंसीव करने में देरी हो सकती है। प्रेग्नेंट न होने के कारण

मां बनना औरत के लिए सबसे खुशी का पल होता है। लेकिन आजकल की निष्क्रिय जीवनशैली, काम में व्‍यस्‍तता और फाइनेंशियल व बायोलॉजिकल कारणों की वजह से अधिकतर महिलाओं को गर्भधारण करने में दिक्कत आ रही हैं। कई मामलों में फर्टिलिटी से जुड़ी कोई बीमारी न होने पर भी महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती हैं और रिपोर्ट्स ठीक आने पर भी उन्‍हें समझ नहीं आता है कि प्रेगनेंट होने में क्‍या प्रॉब्‍लम आ रही है?

अगर आपको भी सब कुछ सही होने पर भी प्रेगनेंट होने में दिक्‍कत आ रही है तो इसके कुछ अलग कारण हो सकते हैं। यहां पर हम आपको उन्‍हीं कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं।कंसीव करने में महिलाओं का वजन बहुत मायने रखता है। अगर आपका वजन कम या ज्‍यादा है तो इससे आपकी कंसीव करने की क्षमता पर बुरा असर पड़ता है। ओवरवेट या बहुत पतला होना आपकी फर्टिलिटी और मासिक चक्र को प्रभावित करता है। गर्भधारण करने की कोशिश कर रही हैं तो नियमित वॉक या योग करें और हरी सब्जियों एवं मौसमी फलों का सेवन करें।

ये हैं प्रेगनेंट ना होने के 5 कारण (pregnant na hone ke karan)

नींद का पैटर्न

पर्याप्‍त नींद न लेने पर इम्‍यून सिस्‍टम पर नकारात्‍मक असर पड़ता है और कई मामलों में ये स्‍ट्रेस का भी कारण बनता है। स्‍ट्रेस की वजह से मासिक चक्र बिगड़ जाता है और नींद की कमी के कारण थकान होने लगती है। वहीं पुरुषों में भी नींद की कमी से शुक्राणुओं की संख्‍या कम हो सकती है जो कि गर्भधारण करने में दिक्‍कत पैदा कर सकता है। आठ से दस घंटे की नींद लेना जरूरी है।

अंडरगार्मेंट टाइट होना

कई महिलाएं बॉडी को शेप में रखने के लिए लैटेक्‍स या बॉडी शेपर पहनती हैं। अगर आप मां बनने की कोशिश कर रही हैं तो ऐसे टाइट कपड़े बिलकुल न पहनें। इनका प्रजनन अंगों पर नकारात्‍मक असर पड़ता है। आरामदायक और हवादार कपड़े पहनने चाहिए।

तनाव

तनाव, एंग्‍जायटी और डिप्रेशन महिलाओं के मासिक चक्र और प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालते हैं। पुरुषों में भी स्‍ट्रेस के कारण स्‍पर्म काउंट कम होने लगता है। तनाव से दूर रहें और हमेशा खुश रहने की कोशिश करें। ध्‍यान और योग की मदद ले सकते हैं।

​प्रदूषण

आपको जानकर हैरानी होगी कि पर्यावरणीय प्रदूषण महिलाओं और पुरुषों की फर्टिलिटी पर बहुत बुरा असर डालता है। धूम्रपान, कार्सिनोजन या सिगरेट के धुएं के संपर्क में आने से गर्भधारण की संभावना कम हो जाती है। महिलाओं को धूम्रपान बिलकुल नहीं करना चाहिए।

बहुत ज्‍यादा या कम सेक्‍स करना

कई बार जल्‍दी गर्भधारण करने के लिए कपल्‍स बहुत ज्‍यादा सेक्‍स कर लेते हैं जिससे थकान घेरने लगती है और बिना उत्‍सुकता के किए गए संभोग से गर्भधारण के रास्‍ते बंद होने लगते हैं। वहीं ओवुलेशन के समय पर सेक्‍स न करने से भी कंसीव करने में दिक्‍कत आती है। प्रेग्नेंट न होने के कारण

Email us at connect@shethepeople.tv