राजस्थान परिवार की पहली लड़की: भारत के सबसे बड़े राज्य में, एक परिवार ने हाल ही में भव्य धूमधाम से बेटी के जन्म का स्वागत किया। 35 साल में घर की पहली बच्ची को हेलीकॉप्टर में घर लाया गया। अनूठे उत्सव का एक वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत प्रसिद्द हो रहा है, जहां देश में इस कदम के लिए इंटरनेट पर लोग परिवार की प्रशंसा कर रहे हैं और खुश हो रहे हैं । वहीं कुछ लोग अभी भी सिर्फ घर में लड़के होने पर ही ख़ुशी मानते हैं।

रिया नाम की लड़की का जन्म इस साल मार्च में हनुमान प्रजापत और चुकी देवी से हुआ था।

लड़की के पिता ने बेहद ख़ुशी के साथ जश्न मनाया और कहा – “आमतौर पर देखा जाता है कि लोग लड़की के जन्म का जश्न नहीं मनाते हैं। लड़की और लड़के में कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए। मैं अपनी बेटी को पढ़ाऊंगा और उसके सभी सपनों को पूरा करूँगा, ”लड़की के पिता ने कहा।

नीचे दिए गए वीडियो को देखें-

राजस्थान परिवार के लिए 35 वर्षों में पहली लड़की धूमधाम से घर आयी

डिलीवरी के बाद चुकी देवी अपनी बेटी के साथ हरसोलाव गाँव में अपने मायके में रह रही थी। उन्हें लेने के लिए, उनके पति ने एक हेलीकॉप्टर बुक किया, जो नागौर में उनके घर से उनके ससुराल तक लेने के लिए जाता है।

रिपोर्टों के अनुसार, यह आयोजन किसी भी तरह से एक सस्ता मामला नहीं था क्योंकि इसकी कीमत कुल 4.5 लाख रुपये थी। लेकिन परिवार के बुजुर्गों ने सुझाव दिया कि एक लड़की का जन्म पूरे तीन दशकों के बाद हुआ है जो जश्न मनाने का अवसर है।

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, राजस्थान में, 2013 और 2015 के बीच बालिका का रेश्यो 861/1000 हो गया है। यह पहले 2011 और 2014 के बीच 893/1000 पर रहता था। यह नोट किया गया है कि 861 का नया डेटा 865/1000 पर 2005 के जेंडर रेश्यो से भी कम है।

Email us at connect@shethepeople.tv