रौशनी नादर मल्होत्रा हाली में HCL टेक्नोलॉजीज की चेयरपर्सन घोषित की गयी हैं। इससे पहले उनके पिता शिव नादर HCL के चेयरमैन थे। हलाकि नादर अभी भी वहां के मैनेजिंग डायरेक्टर रहेंगे और उनकी देसिग्नेशन चीफ स्ट्रेटेजी अफसर (Chief Strategy Officer) कहलायी जाएगी। इसी के साथ रौशनी भारत की सबसे अमीर महिला बन गयी हैं।

image

जानिए इनके बारें में 7 और बातें

  • रोशनी नादर मल्होत्रा ​​वर्तमान में एचसीएल कॉर्पोरेशन के एक्सेक्यूटिव डायरेक्टर और सीईओ है। वो HCL टेक्नोलॉजीज के बोर्ड की वाईस – चेयरपर्सन भी है। वो शिव नाडार फाउंडेशन की ट्रस्टी भी हैं।
  • रौशनी नादर मल्होत्रा , 75 साल के शिव नादर जो HCL के फाउंडर है , उनकी बेटी है । शिव नादर ने HCL को अर्जुन मल्होत्रा ,अजय चौधरी और 5 लोगो के साथ मिल कर बनाया था । रौशनी नादर मल्होत्रा की नेट वर्थ INR 36,800 करोड़ है ।
  • रौशनी दिल्ली की पली, बड़ी हैं और उन्होंने BUSINESS ADMINSTRATION में मास्टर्स किया , USA की केल्लॉग
    स्कूल से ।

2013 में, रोशनी नादर मल्होत्रा ​​को HCL टेक के बोर्ड में अतिरिक्त निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था। एचसीएल टेक्नोलॉजीज और एचसीएल इंफोसिस्टम्स की होल्डिंग कंपनी एचसीएल कॉर्प के बोर्ड में उसकी नियुक्ति के चार साल बाद यह हुआ था। HCL Tech भारत का तीसरा सबसे बड़ा सॉफ्टवेयर एक्सपोर्टर है।

  • वह वर्ल्ड इकोनॉमिक फ़ोरम के फ़ोरम ऑफ़ यंग ग्लोबल लीडर्स पहल की पूर्व छात्र भी हैं। यह दुनिया के सबसे प्रभावशाली, अगली पीढ़ी के लीडर्स की एक कम्युनिटी है।
  • वह विद्याज्ञान लीडरशिप अकादमी के चेयरपर्सन रह चुकी हैं जो गरीब बच्चों को एजुकेशन के द्वारा सशक्त बनाता है ।
  • रौशनी ने 2018 में द हबिटैट्स ट्रस्ट स्थापित किया , नेचर को कंज़र्व करने के लिए तांकि नेचुरल हबिटैट्स को बचाया जा सके और जानवरो को ARTIFICIAL हबिटैट्स में न रहना पड़े ।
  • रौशनी का नाम फोर्बेस में भी फीचर्ड है – वर्ल्ड की मोस्ट पावरफुल वूमेंस में । रौशनी को 2017 में LEWIS INSTITUTE CHANGEMAKER AWARD भी मिला ।

और पढ़िए : कसे हम ग्रामीण महिलाओं को शिक्षा प्रदान कर सकते हैं?

Email us at connect@shethepeople.tv