Sexually Transmitted Diseases (STD) के लक्षण

Published by
STP Hindi Editor

इन दिनों कोरोना वायरस का ख़ौफ़ हर किसी को है क्योंकि ये ट्रेंड में है। लेकिन कई वायरस ऐसे भी है जो हर वक्त, हर जगह मौजूद रहते है लेकिन हम उन पर ध्यान नही देते। उन्ही में से एक है सेक्शुअल इंटरकोर्स के दौरान एक पार्टनर से दूसरे पार्टनर के शरीर में हाने वाले इन्फेक्शन। इन्हे Sexually Transmitted Diseases (STD) भी कहते हैं। | STD के लक्षण 

आपको जान कर हैरानी होगी कि 2015 – 2016 national family health survey के अनुसार 15 से 19 साल कि 7.8% महिलाएं या तो प्रेग्नेंट हैं या माँ बन चुकी हैं। इसके अलावा यह रिपोर्ट ये भी कहती है कि इंडिया में हर साल 6% एडल्ट पापुलेशन को sexually transmitted diseases होती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि भारत में कंट्रासेप्शन और सेफ सेक्स के बारें में जानकारी हासिल करना मुश्किल है।आइये जानते है सेक्स से होने वाली बिमारियों के लक्षण के बारे में :

पुरुषों में Sexually Transmitted Diseases (STD) के लक्षण :

1 सेक्स या urination करते टाइम दर्द या discomfort होना।
2 पेनिस , टेस्टिकल्स, anus , buttocks , thighs, या मुँह पर या उसके आस पास घाव या छाले।
3 पेनिस से असामान्य डिस्चार्ज या खून आना।

महिलाओं में Sexually Transmitted Diseases (STD) के लक्षण :

1 सेक्स या urination करते टाइम दर्द या discomfort होना।
2 वजाइना, anus , buttocks , thighs, या मुँह पर या उसके आस पास घाव या छाले ।
3 वजाइना से असामान्य डिस्चार्ज या खून आना।
4 वजाइना के अंदर या आस पास खुजली होना।

कुछ sexually transmitted diseases ऐसी भी होती हैं जिनके कोई भी लक्षण नहीं होते। लेकिन अगर आपको उनके बारे में जल्द ही ना पता चला तो आप infertility के शिकार भी हो सकते हैं।

महिलाओं में ज़्यादातर होने वाली Sexually Transmitted Diseases (STD) :

1 ह्यूमन पेपिलोमावायरस (Human papillomavirus, HPV)
2 गोनोरिया (gonorrhea )
3 क्लैमिडिया (chlamydia)
4 जेनिटल हर्पीज़ (genital herpes)

पुरुषों में ज़्यादातर होने वाली Sexually Transmitted Diseases (STD) :

1 हेपेटाइटिस ए (Hepatitis A)
2 गोनोरिया (gonorrhea )
3 हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B)
4 क्लैमिडिया (chlamydia)
5 हर्पीस (simplex)
6 ह्यूमन पेपिलोमावायरस (Human papillomavirus, HPV)
7 सिफलिस (Syphilis)

Sexually Transmitted Diseases (STD) को कैसे रोके ?

बहुत से लोग किसी भी लक्षण का अनुभव किए बिना एक एसटीआई कॉन्ट्रैक्ट कर सकते हैं। इसका मतलब है कि अगर आप इन्फेक्शन को रोकना चाहते हैं तो सेफ सेक्स करना बहुत ही ज़रूरी है।

इस आर्टिकल में हमने सेक्स से होने वाली बिमारियों के लक्षण के बारे में जाना।

Recent Posts

Skills for a Women Entrepreneur: कौन सी ऐसी स्किल्स हैं जो एक महिला एंटरप्रेन्योर के लिए जरूरी हैं?

एक एंटरप्रेन्योर बने के लिए आपको बहुत सारे साहस की जरूरत होती है क्योंकि हर…

9 hours ago

Benefits of Yoga for Women: महिलाओं के लिए योग के फायदे क्या हैं?

योग हमारे शरीर, मन और आत्मा को शुद्ध और मजबूत बनाता है। योग से कही…

9 hours ago

Diet Plan After Cesarean Delivery: सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं का डाइट प्लान क्या होना चाहिए?

सी-सेक्शन डिलीवरी के बाद पौष्टिक आहार मां को ऊर्जा देगा और पेट की दीवार और…

9 hours ago

Shilpa Shuts Media Questions: “क्या में राज कुंद्रा हूँ” बोलकर शिल्पा शेट्टी ने रिपोर्टर्स का मुँह बंद किया

शिल्पा का कहना है कि अगर आप सेलिब्रिटी हैं तो कभी भी न कुछ कम्प्लेन…

10 hours ago

Afghan Women Against Taliban: अफ़ग़ान वीमेन की बिज़नेस लीडर ने कहा हम शांत नहीं बैठेंगे

तालिबान में दिक्कत इतनी ज्यादा हो चुकी हैं कि अब महिलाएं अफ़ग़ानिस्तान छोड़कर भी भाग…

10 hours ago

Shehnaz Gill Honsla Rakh: शहनाज़ गिल की फिल्म होंसला रख के बारे में 10 बातें

यह फिल्म एक पंजाबी के बारे में है जो अपने बेटे को अकेले पालते हैं।…

11 hours ago

This website uses cookies.