Thyroid ka gharelu ijaal : थायराइड (Thyroid) की प्रॉब्लम आजकल एक बहुत सीरियस प्रॉब्लम है। थायराइड हमारे गले में पाए जाने वाली ग्रंथि (Gland) है ,जिसमे से थायरोक्सिन हॉर्मोन निकलता है। जब गले में इस थायरोक्सिन हॉर्मोन का बैलेंस बिगड़ने लगता है तो शरीर में कई तरह की बीमारियां होने लगती है। जब थायरोक्सिन हॉर्मोन की मात्रा कम होने लगती है ,तो बॉडी का मेटाबोलिज़्म तेज़ – कम होने लगता है। इस कारण हमारी एनर्जी जल्दी ख़त्म होने लगती है और हम सुस्त ,थका हुआ महसूस करते है।

थायराइड की समस्या किसी को भी हो सकती है ,चाहे वो बच्चा हो या जवान। हम भारतीय हर चीज़ में घर की बनी देसी चीज़ो पर सबसे ज़्यादा भरोसा करते है ,इसलिए आज हम आपको बताएंगे Thyroid ka gharelu ijaal। ये चीज़े आपको घर में ही मिल जाएगी और इस उपचार का आप पर कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं होगा।

थायराइड (Thyroid) से छुटकारा पाने के लिए 5 घरेलु उपचार :

1. अदरक :

अदरक में पोटेशियम, मैग्नीश्यिम पाया जाता है ,जो आपको थायराइड की समस्या से छुटकारा दिला सकता हैं। अदरक में एंटी-इंफलेमेटरी गुण पाए जाते है , जो थायराइड को कंट्रोल करने में मदद करते है।

2. दूध और दही :

थायराइड के मरीज़ को अधिकतर हड्डियों में दर्द की समस्या होती है। थायराइड से ग्रसित लोगों को दूध और दही का सेवन अधिक करना चाहिए। दूध और दही में कैल्शियम, मिनरल्स और विटामिन्स होते है ,जो आपकी हड्डियों को मज़बूत करते है।

3. मुलेठी :

थायराइड के मरीज़ो में थकान सबसे आम समस्या है, वे बड़ी जल्दी थक जाते हैं। ऐसे में मुलेठी का इस्तेमाल बेहद फायदेमंद होता है, यह थकान को उर्जा में बदल देते हैं। मुलेठी में पाए जाने वाले तत्व थायराइड ग्रंथी को बैलेंस में रखते हैं। मुलेठी थायराइड में कैंसर को बढ़ने से भी रोकती है।

4. आयोडीन युक्त खाना खाएं :

हाल ही में हुए एक रिसर्च के मुताबिक़, आयोडिन में मौजूद Nutrients थायराइड ग्रंथी की थायरोक्सिन हॉर्मोन को बैलेंस करने में मदद करता है। इसलिए आयोडीन युक्त खाना ही खाएं।

5. हरी पत्तेदार सब्जियां :

थायराइड के मरीज़ को हरी पत्तेदार सब्जियां खानी चाहिए। अपने खाने में विटामिन ए की मात्रा बढ़ाए। विटामिन ए थायराइड को धीरे-धीरे कम करता है। गाजर और हरी पत्तेदार सब्जियों में विटामिन ए अधिक मात्रा में पाया जाता है।

Email us at connect@shethepeople.tv