Varanasi Beggar Speaks Fluent English: वाराणसी की एक भिखारी की वीडियो वायरल हो रही है, जिसमे वह अंग्रेजी बोलती नजर आ रही हैं

Published by
Muskan Mahajan

Varanasi Beggar Speaks Fluent English:  वाराणसी की एक भिखारी की वीडियो वायरल हो रही है, जिसमे वह अंग्रेजी बोलती नजर आ रही हैं। यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से आगे बढ़ रही है। हम सब ने कई ऐसी विडियोज पहले भी देखी हैं जिसमे गरीब और लेबर लोग अंग्रेजी बोल रहे होते हैं। जानिए वाराणसी की इस महिला के साथ ऐसा क्या हुआ जिसकी वजह से उनकी यह परिस्थिति हो गई है। 

कौन है यह वाराणिसी की महिला जिसकी वीडियो इतनी वायरल हो रही है?

दक्षिण भारत से कंप्यूटर विज्ञान में ग्रेजुएट हैं, स्वाति अब अस्सी घाट पर रहती हैं और उन्हें अपना पेट भरने के लिए भीख मांगते देखा जाता है। स्वाति का जीवन उसकी योजना के अनुसार नहीं हुआ और उससे कहीं दिक्कतों का सामना करना पड़ा। स्वाति के बच्चे के जन्म के बाद शरीर के दाहिने हिस्से को लकवा मार जाने के बाद वह सड़कों पर आ गईं। स्वाति को जबरदस्ती घर छोड़ने को कहा, मजबूर होकर उसने अपना घर छोड़ दिया। स्वाति को 3 साल हो गए अजनबियों की दरियादिली पर जीते हुए। सिर पर छत और भोजन की गारंटी के बिना, शिक्षित महिलाएं काफी बुरा और दंडनायक जीवन जी रही हैं। 

वीडियो में क्या दिखाया जा रहा है?

ऑनलाइन वायरल हो रहे वीडियो में, स्वाति को परफेक्ट अंग्रेजी बोलते और अजनबियों से मदद मांगते देखा जा सकता है। वह कहती है कि, वह सड़कों पर रह रही है, इसलिए लोगों को लगता है कि वह मानसिक रूप से परेशान है। हालाँकि वह बिल्कुल ठीक है और मैं कंप्यूटर चलाना जानती हूं।

लोगों को क्या करना चाहिए?

हम सभी जानते हैं कि जीवन कितना अनप्रेडिक्टेबल है और कुछ भी परमानेंट नहीं है। कभी-कभी चीजें वैसी ही होती हैं जैसी हम चाहते हैं और कभी-कभी ऐसा नहीं होता है। लेकिन सबसे पहले, एक व्यक्ति की मजबूरी और बीमारी की वजह से परेशान होकर उन्हें किसी ऐसी स्थिति में नहीं डालना चाहिए जहां उनका जीवन नरक बन जाए। जैसे स्वाति के पति और रिश्तेदारों  ने उसके लकवा मरने के बाद उसे अपने जीवन से बाहर कर दिया। जिंदगी में हर व्यक्ति का बुरा समय आता है उस समय में एक दूसरे का सहारा बने न की एक दूसरे की परिस्थिति को और दुखद और मुश्किल बनाएं। 

वाराणसी आने वाले लोग स्वाति को अस्सी घाट के पास ढूंढ सकेंगे। स्वाति में बहुत क्षमता है और भिक्षा और सहानुभूति से ज्यादा उसे एक सहारे की जरूरत है। एक नौकरी उसे स्वतंत्र होने में मदद करेगी और जिस जीवन को वह सालों से जी रही है उससे बेहतर बनाने में स्वाति की मदद करें। 

Recent Posts

Deepika Padokone On Gehraiyaan Film: दीपिका पादुकोण ने कहा इंडिया ने गहराइयाँ जैसी फिल्म नहीं देखी है

दीपिका पादुकोण की फिल्में हमेशा ही हिट होती हैं , यह एक बार फिर एक…

2 days ago

Singer Shan Mother Passes Away: सिंगर शान की माँ सोनाली मुखर्जी का हुआ निधन

इससे पहले शान ने एक इंटरव्यू के दौरान जिक्र किया था कि इनकी माँ ने…

2 days ago

Muslim Women Targeted: बुल्ली बाई के बाद क्लबहाउस पर किया मुस्लिम महिलाओं को टारगेट, क्या मुस्लिम महिलाओं सुरक्षित नहीं?

दिल्ली महिला कमीशन की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने इसको लेकर विस्तार से छान बीन करने…

2 days ago

This website uses cookies.