फाइनेंसियल इंडिपेंडेंस मतलब है आर्थिक आज़ादी। आज के समय में जब हम इक्वलिटी की इतनी चर्चा करते हैं ये बहुत ज़रूरी है कि हम फाइनेंसियल इंडिपेंडेंस पर भी उतना ही ज़ोर दें। ना सिर्फ़ इक्वलिटी के लिए बल्कि बढ़ती कॉस्ट हुई कॉस्ट ऑफ़ लिविंग की भी यहीं मांग है कि हर इंसान और विशेष कर की महिलाएँ अपने लिए ख़ुद खड़ी हो और अपने पैसों के लिए भी ज़िम्मेदार हो। आज इकीसवीं सदी में महिलाओं को अपने फैसले लेने के लिए उनका फिनेंशली इंडिपेंडेंट होना सबसे ज़रूरी है। जाने क्यों ज़रूरी है महिलाओं का फिनेंशली इंडिपेंडेंट होना:

1. सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए ज़रूरी है फिनेंशली इंडिपेंडेंट होना:

इस पुरुष प्रधान समाज में एक लड़की को हमेशा यहीं सुनने को मिला है कि वह कभी किसी लड़के के बराबरी नहीं कर सकती है। एक लड़की के स्किल्स और टैलेंट को हमेशा ये समाज कम ही समझता है। ऐसे में अगर आपके ये स्किल्स और टैलेंट्स आपको अपने पैरों पर खड़े होने में मदद करते हैं तो इससे अच्छा और कुछ नहीं हो सकता है। इससे ना सिर्फ़ आप फिनेंशली इंडिपेंडेंट बनेंगे बल्कि आपके सेल्फ कॉन्फिडेंस में भी इज़ाफ़ा होगा।

2. आपकी डिपेंडेंसी ख़त्म करने के लिए

अगर आप अपने ही घर में डिप्रेशन, घरेलु या मानसिक हिंसा के शिकार है तो आपके लिए अपने आप को प्रोटेक्ट करना सबसे पहली प्रायोरिटी होगी। इसमें आपको फाइनेंसियल इंडिपेंडेंस मदद कर सकता है। जब आपके पास अपने ख़ुद के पैसे होंगे तो आपको ना ही किसी और की बात मानाने की ज़रूरत है और ना ही किसी के ऊपर डिपेंडेंट रहने की ज़रूरत है। फाइनेंसियल इंडिपेंडेंस आपको अनचाहे रिश्ते और तकलीफों से आज़ाद कर सकता है।

3. कॉस्ट ऑफ़ लिविंग की डिमांड मीट करने के लिए

जिस तरह से मंडी बाद रही है अपनी कॉस्ट ऑफ़ लिविंग मेन्टेन करने के लिए ये बहुत ज़रूरी है कि आपके पास ख़ुद की कोई नौकरी या बिज़नेस हो। फिर चाहे आप सिंगल हो या शादीशुदा एक अच्छा घर, सही कपड़े और सही खाने की ज़रूरतों को आप आने फाइनेंसियल इंडिपेंडेंस से मेन्टेन कर सकते हैं।

4. अपने स्किल्स में बढ़ोतरी करने के लिए

फिर चाहे आप उसे किसी नौकरी के ज़रिये प्रदर्शित करें या फिर अपने ख़ुद के बिज़नेस के रूप में अपने स्किल्स को शोकेस करना बहुत अच्छी बात है। जब आप अपने स्किल्स पर काम करते हैं और उसे सुधारते हैं तो इससे आपके सेल्फ कॉन्फिडेंस के साथ-साथ फाइनेंस में भी इज़ाफ़ा होता है। जितना आप अपने स्किल्स को निखारेंगे उतना आप पोटेंशियल में बढ़ोतरी होगा।

5. किसी भी इमरजेंसी का सामना करने के लिए

एक परिवार के नाते आपको ऐसे कई घटनाओं का सामना करना पर सकता है जिसके लिए आप तैयार ना हो। किसी भी तरह की मेडिकल या फाइनेंसियल इमरजेंसी कभी भी आ सकती है। ऐसी स्थिति में अगर आपके पास अपने ख़ुद के पैसे हो तो आपको बहुत बड़ा सहारा मिल सकता है। इससे ना सिर्फ़ आप अपने परिवार की मदद कर पाएंगे बल्कि आप उस इमरजेंसी से भी जल्दी उबर पाएंगे।

Email us at connect@shethepeople.tv