जैसे कि सनस्क्रीन नाम से ही समझ आ रहा है कि इसका मतलब होता है सन के लिए एक स्क्रीन । सनस्क्रीन काम भी कुछ ऐसे ही करती है ये आपके और सूरज की किरणों के बीच एक बचाव का काम करती है। इस से आप सूरज से होने वाले नुकसानों से बचते हैं। सनस्क्रीन में जिंक ऑक्साइड, टाइटेनियम ऑक्साइड जैसी चीज़ें होती हैं। यह आपको समय से पहले बूढ़े और धूप से जलने से बचाते हैं। आज हम आपको बताएंगे सनस्क्रीन लगाना क्यों होता है जरुरी –

1. टैनिंग से बचाव

टैनिंग मतलब होता है जब हमारे शरीर के कुछ हिस्से बहार निकले रहते हैं और सूरज की किरणों के कारण काले हो जाते हैं उसे टैनिंग कहते हैं। इस से बचने के लिए या तो आप आपके शरीर को धूप में ढक कर रखें या फिर एक अच्छी सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें।

2. ज्यादा कॉस्मेटिक से बचाता है

आजकल सनस्क्रीन कई तरीके की होती हैं जैसे कि ऑयली स्किन के लिए जेल वाली और ड्राई स्किन के लिए क्रीम वाली। अगर आप क्रीम वाली सनस्क्रीन लगाते हैं तो आपको अलग से क्रीम लगाने की जरुरत नहीं पढ़ती है। एक ही प्रोडक्ट से आपका मॉइस्चराइजेशन और धूप से बचने का काम हो जाता है।

3. समय से पहले बूढ़े होने से बचाव

सनस्क्रीन लगाने से आपकी त्वचा पर एक बचाव के लिए परत बन जाती है। ऐसा होने से आप नुकसान से बचते हैं और आप को झुर्रियां या झाइयां नहीं हो पाती हैं।

4. सनस्क्रीन क्यों है जरुरी ? हैल्दी स्किन के लिए

स्किन को स्वस्थ रखने के लिए कई जरुरी चीज़ें चाहिए होती हैं जैसे कि कोलाजेन और केरोटीन। ये सभी चीज़ें ज्यादातर सनस्क्रीन में पायी जाती हैं। इसके कारण आप सूरज की हानिकारक किरणों से बचे रहते हैं और कोई नुकसान नहीं हो पाता है। इस से आपकी स्किन स्वस्थ और कोमल बनी रहती है।

5. स्किन कैंसर से बचाव

कैंसर ज्यादातर सूरज की हानिकारक और तेज किरणों के कारण होता है। जब आप बिना कुछ चेहरे पर लगाएं ज़रूरत से ज्यादा समय सूरज में रहते हैं तब आपको स्किन कैंसर होता है। इसलिए सनस्क्रीन लगाना अपने रूटीन में ड़ाल लें और बचके रहें।

Email us at connect@shethepeople.tv