रियल लाइफ चक दे! इंडिया मूमेंट : भारतीय महिला हॉकी टीम ने सेमीफइनल में पहुंच कर रचा इतिहास

रियल लाइफ चक दे! इंडिया मूमेंट : भारतीय महिला हॉकी टीम ने सेमीफइनल में पहुंच कर रचा इतिहास रियल लाइफ चक दे! इंडिया मूमेंट : भारतीय महिला हॉकी टीम ने सेमीफइनल में पहुंच कर रचा इतिहास

SheThePeople Team

02 Aug 2021


महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल: क्रिकेट के दीवाने देश में, ज्यादातर खेलों पर कोई उतना ध्यान नहीं देता और विशेष रूप से महिलाओं के खेल पर। आज टोक्यो ओलम्पिक में भारतीय महिला हॉकी टीम ने शानदार प्रदर्शन के साथ सेमीफाइनल में जगह बनाई, जो की भारत के लिए जश्न मनाने का एक कारण लेकर आया है। महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल

महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल पहुंची ,भारत में जश्न का माहौल

गुरजीत कौर के एक गोल ने महिला टीम को ओलंपिक खेलों में अपने पहले सेमीफाइनल में प्रवेश करने में सक्षम बनाया है। विश्व नंबर 2 ऑस्ट्रेलिया पर 1-0 की यह जीत हमेशा ऐतिहासिक रहेगी, भविष्य में परिणाम जो भी हो। महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल

चक दे ​​इंडिया के भारत के गाने ने टोक्यो में स्टेडियम का माहौल बना दिया। नीले रंग के कपड़े पहने इन महिलाओं ने जो हासिल किया है, उसके लिए कितनी भी सराहना की जाये कम हैं। आपको बता दे कि, यह केवल तीसरी बार है जब महिला टीम ने ओलंपिक खेल के हॉकी आयोजन में जगह बनाई है।

पुरुष और महिला दोनों टीमों ने ही इस बार सेमीफाइनल में जगह बनाई है। भारत के लिए ये डबल खुशी किसी सपने से कम नहीं है। स्टेडियम के अंदर का पल और जश्न आपके रोंगटे खड़े कर देगा। इस टीम की हर महिला आपको अपनी सीमाओं से परे जाने और अपने सपनों को हासिल करने के लिए प्रेरित करेगी। कप्तान रानी रामपाल की कहानी कि कैसे उन्होंने एक टूटी हुई हॉकी स्टिक से खेलना शुरू किया, एक प्रेरणा है। महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल

खेल का पहला गोल करने वाली गुरजीत कौर एक किसान परिवार से आती है

खेल का पहला गोल करने वाली अमृतसर की लड़की गुरजीत कौर भी एक किसान परिवार से आती है। इंडिया टुडे के अनुसार, ड्रैग-फ्लिकर ने कहा, “जीत से बहुत खुश हूँ, सभी ने इस जीत के लिए बहुत मेहनत की। हमने एक टीम की तरह परफॉर्म किया और हम सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई करके बहुत खुशी महसूस कर रहे हैं। उन सभी को धन्यवाद जिन्होंने भारतीय महिला टीम का समर्थन किया, ”जीत के बाद।

बहादुर महिलाओं की टीम ने रचा इतिहास

याद रखें कि एक देश के रूप में हम महिलाये किसी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं, चाहे वह शिक्षा में हो या खेल में। और जितने भी खेल खेले जाते हैं उनमें से अधिकांश क्रिकेट पर छाया रहता है। आइए हम भारतीय महिलाओं के लिए इस क्षण का जश्न मनाएं, जो कि पारंपरिक रूप से महिलाओं के लिए ऐसे क्षेत्र में नाम बनाने के लिए कई गलत धारणाओं को तोड़ता है। वे बहादुर महिलाएं हैं जिन्होंने इतिहास रचा है। हम रानी रामपाल के नेतृत्व वाली इस टीम को शुभकामनाएं देते हैं।

https://twitter.com/TheHockeyIndia/status/1422053672024870919?s=20

 


अनुशंसित लेख