वर्क एंग्जायटी हेंडल करने के लिए अपनाये ये 5 टिप्स

Published by
Shilpa Kunwar

काम को लेकर थोड़ा-बहुत स्ट्रेस होना पूरी तरह से नॉर्मल है। लेकिन वर्क एंग्जायटी (Work Anxiety) एक तरह का मेंटल स्टेटस है जिसके दौरान आप अपने काम या जॉब को लेकर स्ट्रेस में रहने लगती हैं। वर्क एंग्जायटी ना केवल आपके काम की क्वालिटी को कम करती है बल्कि आपकी ‘क्वालिटी ऑफ लाइफ’ (Quality if life) को भी प्रभावित करती है। जो काम आप एक समय से करती आ रही थी और एंजॉय कर रही थी, वही आपको बोर लगने लगता है और आप उससे भागने लगती हैं। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि आपको कोई चीज परेशान कर रही होती है। यह एंग्जायटी तब और बढ़ जाती है, जब आप इस डर में होती हैं कि आपका बॉस आप पर गुस्सा होगा या आपके काम की आलोचना करेगा वो भी बाकी लोगों के सामने। आइये जानते हैं वर्क एंग्जायटी से बचने के टिप्स ।

जानिए वर्क एंग्जायटी हेंडल करने के ये 5 टिप्स (work anxiety se bachne ke tips)

1. इसके बारे में खुलकर बात करें

वर्कप्लेस पर होने वाले स्ट्रेस और एंग्जायटी के बारे में खुलकर बात करें क्योंकि ये वास्तव में आपके काम और उनके रिजल्ट्स को प्रभावित करता है। अगर आप खुलकर इस विषय पर बात करेंगे तो मैनेजमेंट को उन लोगों के बारे में पता चलेगा जो ऐसी समस्या से जूझ रहे हैं और वो आपकी मदद कर पाएंगे। आप अपने किसी को-वर्कर से भी बात कर सकती हैं, जो आपको लगता है आपकी मदद कर सकते है।

2. अच्छी नींद और सही आहार लें

दिनभर अच्छा महसूस करने के लिए रातभर अच्छी नींद लेना भी जरूरी है। अगर आप रात में ठीक से सो नहीं पाती हैं तो आपको स्ट्रेस हो सकता है। अच्छी नींद और सही आहार लेने से एंग्जायटी को कम करने में मदद मिलेगी। साथ ही कैफीन का सेवन कम कर दें, ताकि आपको अच्छी नींद आ सके।

3. वर्क-लाइफ बैलेंस बनाएं

प्रोफेशन और पर्सनल लाइफ में बैलेंस बनाएं, दोस्तों के साथ समय बिताएं, परिवार को समय दें। अच्छे दोस्त और सपोर्ट सिस्टम भी वर्क स्ट्रेस और एंग्जायटी कम करने में आपकी मदद करते हैं। अच्छा संगीत सुनें, योग या मेडिटेशन करें, किताबें पढ़ें। वो काम करें जो आपको खुश करते हैं। ऑफिस के बाद काम से ख़ुद को दूर रखें। (वर्क एंग्जायटी से बचने के टिप्स)

4. बी12 और डी3 लेवल चेक करें

कई बार कुछ मिनरल्स की कमी के कारण भी आपको एंग्जायटी और स्ट्रेस का सामना करना पड़ सकता है। ये मिनरल्स आपके ब्रेन फंक्शनिंग के लिए बेहद जरूरी है। बी12 और डी3 जैसे मिनरल्स का लेवल चेक कराएं। अगर इनकी कमी रिपोर्ट होती है तो डॉक्टर की मदद लें और इनकी पूर्ति के लिए जरूरी सप्लीमेंट्स लें।

5. एक्सपर्ट से बात करें

अगर आपके लिए इनमें से कोई भी टिप काम नहीं कर रही है और आप लंबे समय तक स्ट्रेस और एंग्जायटी महसूस कर रही हैं तो आपको एक्सपर्ट से संपर्क करने की ज़रूरत है क्योंकि किसी भी समस्या को लंबे समय तक यूं ही रहने देने से यह बढ़ सकती है। (वर्क एंग्जायटी से बचने के टिप्स)

Recent Posts

आंध्र प्रदेश सरकार 30 लाख रुपये की नगद राशि के इनाम से पीवी सिंधु को करेगी सम्मानित

शटलर पीवी सिंधु को टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज़ मैडल जीतने पर आंध्र प्रदेश सरकार देगी…

25 mins ago

Justice For Delhi Cantt Girl : जानिये मामले से जुड़ी ये 10 बातें

रविवार को दिल्ली कैंट एरिया के नांगल गांव में एक नौ वर्षीय लड़की का बलात्कार…

1 hour ago

ट्विटर पर हैशटैग Justice For Delhi Cantt Girl क्यों ट्रैंड कर रहा है ? जानिये क्या है पूरा मामला

दक्षिण-पश्चिम दिल्ली में दिल्ली कैंट के पास श्मशान के एक पुजारी और तीन पुरुष कर्मचारियों…

2 hours ago

दिल्ली: 9 साल की बच्ची के साथ बलात्कार, हत्या, जबरन किया गया अंतिम संस्कार

दिल्ली में एक नौ वर्षीय लड़की का बलात्कार किया गया, उसकी हत्या कर दी गई…

3 hours ago

रानी रामपाल: कार्ट पुलर की बेटी ने भारत को ओलंपिक में एक ऐतिहासिक जीत दिलाई

भारतीय महिला हॉकी टीम ने सोमवार (2 अगस्त) को तीन बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को…

17 hours ago

टोक्यो ओलंपिक: गुरजीत कौर कौन हैं ? यहां जानिए भारतीय महिला हॉकी टीम की इस पावर प्लेयर के बारे में

मैच के दूसरे क्वार्टर में गुरजीत कौर के एक गोल ने भारतीय महिला हॉकी टीम…

18 hours ago

This website uses cookies.