Boost Your Productivity At Work: बेहतर रिजल्ट के लिए अपनाएं ये टिप्स

Boost Your Productivity At Work: बेहतर रिजल्ट के लिए अपनाएं ये टिप्स  Boost Your Productivity At Work: बेहतर रिजल्ट के लिए अपनाएं ये टिप्स

Swati Bundela

24 Jun 2022

हम सभी अपने जीवन में सफल होना चाहते हैं और उस लक्ष्य को हासिल करने के लिए हम किसी भी हद तक जा सकते हैं। चाहे हमें लंबे समय तक काम करना हो, मल्टीटास्क करना हो। हालाँकि, कड़ी मेहनत करना ही सफलता के लिए पर्याप्त नहीं है! आपको स्मार्ट तरीके से काम करने आना चाहिए। ऐसा करने के लिए आपको कुछ टिप्स को जानने की जरुरत है । जानिए कुछ प्रोडक्टिविटी बढ़ाने के तरीके- 

काम में बेहतर रिजल्ट पाने के लिए अपनाएं ये टिप्स:

1. To-do List बनाएं 

काम में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए जरुरी है कि आपको कुछ ऐसे शॉर्टकट टिप्स पता हो जिनकी मदद से आप अपने काम में बेहतरीन प्रदर्शन कर सकें। इसके लिए सबसे अच्छा ऑप्शन है एक टू-डु लिस्ट तैयार करना, जिसमें आप पूरे दिन में क्या-क्या काम करना है, इसकी एक व्यवस्थित सूचि बना सकते हैं। ये टू-डु लिस्ट आपको कंसंट्रेशन में मदद करता है।    

2. ध्यान भटकाने वाली चीज़ों से रहें दूर

हम पहले ही कंसंट्रेशन के महत्व पर चर्चा कर चुके हैं। आपको ध्यान भटकाने वाले, डिस्ट्रैक्शन वाली चीज़ों से दूर रहना चाहिए। ध्यान भटकाने के प्रमुख कारण सोशल मीडिया हैं। आपको जो कुछ भी विचलित करता है उसे आपको पहचानना और अनदेखा करना चाहिए। 

3. अपने काम पर डेडलाइन तय करें 

वैसे तो हम डेडलाइन के कारण बहुत स्ट्रेस में होते हैं लेकिन कभी कभी अपने लिए एक समय सीमा निर्धारित करना और अपने काम काज में खुद ही डेडलाइन तय करना हमारे लिए फायदेमंद हो सकता है। इससे आपका कंसंट्रेशन बढ़ता ही है। 

4. मल्टीटास्किंग करें थोड़ा कम 

वैसे तो मल्टीटास्किंग करना आपके काम में प्रोडक्टिविटी को बढ़ता ही है लेकिन कभी-कभी किसी एक काम पर अपना ध्यान केंद्रित करना ही बेहतर होता है। मल्टीटास्किंग से कभी-कभी हम कई कामों में एक साथ उलझ कर रह जाते हैं। मनोवैज्ञानिकों के अनुसार, एक साथ कई कार्यों को पूरा करने का प्रयास करने से समय और उत्पादकता की हानि हो सकती है। 

5. ज्यादा टाइम लेने वाले प्रोजेक्ट पर करें फोकस 

किसी भी और असाइनमेंट से पहले उस कामको प्राथमिकता देना चाहिए जिसमें ज्यादा वक़्त लगता हो। सबसे पहले सूचि में देखें कि आपको कौन-कौन से प्रोजेक्ट मिले हैं। उसके बाद उनमें से चुनाव करें कि कौन सा प्रोजेक्ट ज्यादा लम्बा है और अधिक समय लेने वाले असाइनमेंट पर ज्यादा फोकस करें।   

अनुशंसित लेख