आज भी करोड़ों औरतें हैं, जो प्रेग्नेंट होने के लिए बहुत स्ट्रगल कर रही है। उन्हें इरेगुलर पीरियड, PCOD, हार्मोनल प्रॉब्लम आदि का सामना करना पड़ता है। अगर आपको आपका फर्टाइल पीरियड पता होगा, तो इससे प्रेगनेंसी और एक्युरेटली प्लान करने में मदद मिलेगी।

यदि आप कोई प्रेगनेंसी प्लान नहीं कर रहा है, तब भी फर्टाइल पीरियड के पता होने से आप अनप्लांड, अनवांटेड प्रेगनेंसी से बच सकते हैं। प्रेगनेंसी हमेशा चॉइस से होनी चाहिए ना की चांस से। अपनी बॉडी के प्रति अटैंटिव रहना, उसके बारे में अवेयर रहना से, आपको आपकी प्रेगनेंसी प्लान करने में मदद मिलेगी। प्रेग्नेंट होने का बेस्ट समय 

सबसे पहले हमें ये समझना होगा की प्रेगनेंसी कैसे होती है। महिलाओं में दो ग्रेप्स के जैसे स्ट्रक्चर होते हैं, जिन्हें ओवरीज कहते हैं। साथ ही, दो ट्यूब जैसे स्ट्रक्चर को हम फैलोपियन ट्यूब कहते हैं। जब हमारे पीरियड्स शुरू होते हैं, तब हमारी ओवरी में छोटे-छोटे एग्स बढ़ना शुरू कर देते हैं। उनमें से कोई एक एग दूसरों के मुकाबले ज्यादा बड़ा होगा। जब वो एक सर्टेन साइज का हो जाता है, तो वह ओवरी से बाहर निकलकर वहीं पर स्पर्म्स का इंतजार करता है।

अगर पार्टनर के स्पर्म्स वहां पर 1-2 दिन पहले हुए इंटरकोर्स की वजह से मौजूद होते हैं, तो पहले बेबी ट्यूब में फॉर्म होता है और फिर 3-4 दिन बाद बेबी नीचे आता है, खुद को वुंब की लाइनिंग से अटैच करता है और ग्रो करना शुरू करता है। ये वो टाइम है जब एक प्रेगनेंसी टेस्ट पॉजिटिव कहलाता है। प्रेग्नेंट होने का बेस्ट समय 

कौन से फैक्टर्स प्रेग्नेंट होने के लिए जरूरी है?प्रेग्नेंट होने का बेस्ट समय 

1. ओवुलेशन – एग्स का फॉर्मेशन होना और उनका बाहर निकलना। मेडिकल की भाषा में इसे ओवुलेशन कहते हैं।

2. एक ओपन फैलोपियन ट्यूब का होना।

3. वुंब की अच्छी लाइनिंग, जो बेबी को एंकर कर सके।

4. बहुत सारे स्पर्म्स का होना। उन स्पर्म्स में इतनी शक्ति होनी चाहिए की वे वजाइना से एग की तरफ पहुंच सके जो कि फैलोपियन ट्यूब में है।

ओवुलेशन के 3 दिन पहले या 1-2 दिन बाद वो बेस्ट टाइम होता है, जब ये सारे फैक्टर्स मौजूद होते हैं। सामान्य तौर पर ये समय पीरियड साइकिल के 11 वे और 15 वे दिन के बीच में आता है। लेकिन ये उन्हीं महिलाओं के लिए है, जिनकी पीरियड साइकिल रेगुलर है मतलब एक ऐसी साइकिल जो 26-28 दिनों की होती है।

Email us at connect@shethepeople.tv