PCOS की समस्या में हर डॉक्टर यही कहता है कि आप हेल्दी लाइफस्टाइल जियें और हेल्दी डाइट लें। आज हर 10 में से एक महिला को PCOD या PCOS की समस्या होती ही है। इस बीमारी का कोई मुख्य कारण नहीं है, पर फिर भी यह हमें कई परेशानियां दे सकती है। इसे कम करने के लिए अपनी डाइट पर ध्यान देना बहुत आवश्यक है।PCOS को करें मैनेज

आइए डॉ रिद्धिमा शेट्टी से जानें कि PCOS को कैसे करें अच्छे से मैनेज

1) पूरी नींद लें

आदर्श रूप से आपको हर रात 6 से 8 घंटों की नींद लेनी चाहिए और आपको 11:00 बजे तक सो जाना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि हार्मोन मेलाटोनिन हमारे शरीर में रात को रिलीज होता है और हमारे शरीर को हील करने में यह मदद करता है।

2) घर पर बना खाना खाएं

यह बहुत जरूरी है कि आप घर पर ही बना सादा भोजन करें। किसी भी प्रकार के प्रोसेस्ड या पैकेज्ड फूड को ना खाएं। कोई भी फूड जोकि पैकेट में आता है, भले ही उस पर ऑर्गेनिक या हेल्दी लिखा हो, आपकी डाइट में इसे इंक्लूड करो ऐसा भी लिखा हो, वह नहीं खाना चाहिए। उसमें काफी सारे प्रिजर्वेटिव्स होते हैं, जो हमारे हारमोंस को दिसरप्त कर देते हैं।

3) फाइबर से भरा खाना

अपनी डाइट में फाइबर-रिच फूड को शामिल करने का प्रयास करें। फलों और हरी सब्जियों में फाइबर की मात्रा सबसे अधिक होती है। इसे नियमित रूप से अपने आहार में शामिल करें।

4) डाइट में हेल्दी फैट्स

अपने आहार में फाइबर-रिच फूड के साथ-साथ हेल्दी फैट्स को भी शामिल करें। फूड आइटम्स जैसे फ्रेश फिश, अंडे, चिकन, ड्राई फ्रूट्स, नट्स, सीड्स आदि में हेल्दी फैट्स की भरपूर मात्रा पाई जाती है। आप चाहे तो चिया सीड्स को भी अपनी डाइट में इंक्लूड करें।

5) हाई प्रोटीन डाइट

हाई प्रोटीन वाले आहार के लिए आप वाइट मीट, दाल,लेग्यूम (फलियां), चिया सीड्स, दही आदि अपने भोजन में शामिल कर सकती हैं।

6) इन फूड्स को अवॉइड करें

इसके साथ ही कुछ ऐसी चीजें हैं, जो आपको बिल्कुल ही अवॉइड करनी चाहिए जैसे रिफाइंड आटा, वाइट ब्रेड। साथ ही प्रोसेस्ड शुगर को भी अवॉइड करें। कोई भी चीज जो की मीठी है या कोई चीज जो पैकेट में आती है, उस में भारी मात्रा में प्रोसेस्ड शुगर पाई जाती है और आपको बिल्कुल भी उसे कंज्यूम नहीं करना चाहिए।

7) स्मोकिंग न करें PCOS को करें मैनेज

इसी के साथ, रेड मीट, बहुत ज्यादा कैफ़ीन आदि को भी अवॉइड करें। स्मोकिंग ना करें और अपने अल्कोहल के सेवन को भी कम करें।

8) एक्सरसाइज करें

अपने डेली रूटीन में किसी भी तरह की लो इंटेंसिटी एक्सरसाइज को शामिल करें। चाहे तो वॉक पर जाएं, योग करें, कोई भी छोटी-मोटी एक्सरसाइज, जिसकी इंटेंसिटी से आपका स्ट्रेस हार्मोन न बढ़े और आप उस एक्सरसाइज को एंजॉय करें।

9) स्ट्रेस न लें

यह सबसे जरूरी पॉइंट है कि आप अपने स्ट्रेस लेवल को कम करने की कोशिश करें। ये कहने में आसान लगता है परंतु हम कोशिश तो कर ही सकते हैं। अपने हार्मोन को रेगुलेट करने का प्रयास करें।

 

**उपर्युक्त जानकारी डॉ रिद्धिमा शेट्टी द्वारा दी गई है। वे एक गयनेकोलॉजिस्ट हैं।

Email us at connect@shethepeople.tv