इश्यूज

क्या आपको भी सेक्स करते वक्त दर्द होता है? जानें क्या होता है Vaginismus?

Published by
Hetal Jain

कई महिलाओं को सेक्स करते वक्त काफी दर्द होता है। इसी वजह से वे अपने पार्टनर के साथ इंटरकोर्स से डरती हैं। इस अवस्था को वैजिनिज़्मस (Vaginismus) कहते हैं। वैजिनिज़्मस न केवल सेक्स करते वक्त बल्कि Tampons लगाने से, या उंगली तक वजाइना में जाने से पेन होता है।

आइए जानें डॉ अनीता एलियास से कि वैजिनिज़्मस (Vaginismus) क्या है और क्या इसका कोई इलाज है?

वैजिनिज़्मस (Vaginismus) क्या है?

वैजिनिज़्मस (Vaginismus) का अर्थ है कि जब एक महिला के लिए बार-बार अपने वजाइना में पेनिस, उंगली या कोई और वस्तु जैसे Tampons आदि के पेनेट्रेशन में परेशानी और दर्द होना। इस अवस्था में महिला सेक्स करना चाहती है परंतु दर्द और उसके डर के कारण नहीं कर पाती।

जिन महिलाओं को यह समस्या है, वे अक्सर इंटरकोर्स से डरती है और उन्हें अवॉइड करती हैं। उनकी पेल्विक मसल्स में कॉन्ट्रेक्शन होता है जिससे सेक्स के दौरान काफी दर्द होता है।

अगर ये स्थिति माइल्ड है, तो tampons, उंगली या पेनिस आदि के पेनेट्रेशन से अनकंफर्टेबल महसूस होता है। अगर ये सिवियर है तो आपको थोड़े दर्द से बहुत ज्यादा दर्द हो सकता है। परंतु यदि ये इससे भी ज्यादा सिवियर है, तो वजाइना में कुछ भी पेनेट्रेट हो पाना असंभव है।

वैजिनिज़्मस (Vaginismus) होने का कारण क्या है?

इसका सबसे बड़ा कारण है वजाइना के आसपास की पेल्विक फ्लोर मसल्स का बहुत टाइट हो जाना। उनमें एक Involuntary Muscle Contraction (अनैच्छिक ऐंठन) का होना, जिसकी वजह से सेक्स में बहुत दर्द होता है। Ismus का मतलब है Spasm, तो वैजिनिज़्मस को हम वजाइना का स्पैस्म (spasm) समझते हैं।

वजाइना एक स्ट्रैची ट्यूब की तरह होता है। जब भी कुछ उसके अंदर जाता है, तो वह expand हो जाता है। जब हम परेशान होते हैं या फिर Involuntary भी वजाइना के आसपास की पेल्विक फ्लोर मसल्स टाइट हो जाती है। यह एक प्रोटेक्टिव मैकेनिज्म की तरह काम करता है।

यह बहुत ही कॉमन समस्या है और इसे ठीक किया जा सकता है। इसके लिए महिलाओं का यह सीखना बहुत जरूरी है कि पेल्विक फ्लोर को कैसे कंट्रोल करते हैं और उसे कैसे रिलैक्स और रिलीज करते हैं।

इसका इलाज क्या है?

Vaginismus से राहत पाने के लिए डॉक्टर आपको अपने पेल्विक फ्लोर मसल्स को रिलैक्स करने के व्यायाम और एक्सरसाइज बताते हैं। किगल एक्सरसाइज़ से आपके पेल्विक एरिया में थोड़ा लचीलापन (elasticity) आएगा और सेक्स के दौरान आपको दर्द भी कम होगा।

अगर आपको भी वैजिनिज़्मस (Vaginismus) के लक्षण नज़र आ रहे हैं, तो इसे हल्‍के में ना लें और तुरंत अपने डॉक्‍टर को दिखाएं।

 

** उपरोक्त जानकारी डॉ अनीता एलियास द्वारा दी गई है। वे Monash University के Obstetrics और Gynaecology विभाग में सीनियर लेक्चरर हैं।

Recent Posts

Pfizer और AstraZeneca वैक्सीन की एंटीबॉडीज़ 3 महीने में 50 % कम हो सकती हैं

जब यह वैक्सीन लगती हैं तब इनका असर बहुत ज्यादा रहता है और उसके बाद…

20 mins ago

कौन है दीपिका कुमारी ? यूएसए की जेनिफर फर्नांडेज को मात देते हुए 6-4 से आगे दीपिका

2009 से ही दीपिका  ने आर्चरी में अपना नाम कमाना शुरू किया जिसके बाद उन्हें…

30 mins ago

टोक्यो ओलिंपिक 2020: भारतीय बॉक्सर पूजा रानी पहुंची क्वार्टर फाइनल में

इंडियन बॉक्सर पूजा रानी (75 किग्रा) ने बुधवार को टोक्यो में अपने पहले ओलंपिक खेलों…

31 mins ago

उर्मिला कोठारे कौन है ? कृति सैनन की “मिमी” ओरिजनल मराठी फिल्म में निभाया था “मिमी” का किरदार

कृति सेनन की फिल्में एक सरोगेसी की कहानी के इर्द-गिर्द घूमती है जिसमें कृति का…

60 mins ago

पाक एक्ट्रेस सोमी अली हुई पोर्न बैन पर हैरान, कहा यहां हुआ है कामसूत्र ओरिजनेट

बॉलीवुड अभिनेत्री सोमी अली ने भी विवाद के बारे में बात की है। उनका कहना…

1 hour ago

बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन अगले महीने तक आएगी : हेल्थ मिनिस्टर मनसुख मंडाविया

अभी जिन लोगों के लिए वैक्सीन नहीं आयी है और जो 18 से कम उम्र…

1 hour ago

This website uses cookies.