न्यूज़

अपर्णा कुमार सातों समिट्स को फतह करने वाली पहली आईपीएस अधिकारी बनी

Published by
Ayushi Jain

अपर्णा कुमार ने अमेरिका के अलास्का में माउंट डेनाली की चढ़ाई पूरी कर ली है, और इस चढ़ाई के साथ अब वो सिर्फ आईपीएस अधिकारी और डीआईजी ही नहीं बल्कि उत्तरी अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी चढ़ने वाली और सात शिखर की चढ़ाई को पूरा करने वाले पहले आईपीएस अधिकारी भी बन गई है।

सातों महाद्वीपों की ऊँची चोटियों को चढ़नेवाली पहली आईपीएस बनी

नार्थ अमेरिका की सबसे ऊँची चोटी माउंट डेनाली 20,310 फीट ऊँची  है। सौभाग्य से, अपर्णा साफ़ मौसम में पहाड़ पर चढ़ रही थी। उन्होंने 15 जून को अपनी आखरी चढ़ाई शुरू की। उनकी चढ़ाई 10 जुलाई के आसपास खत्म होने वाली थी, लेकिन मौसम साफ़ न होने के कारण, उन्होंने अपनी निर्धारित तिथि से दस दिन पहले चढ़ाई पूरी कर ली।

अपर्णा 2002 बैच की यूपी कैडर की आईपीएस अधिकारी हैं। वह देहरादून में आईटीबीपी के उत्तरी सीमावर्ती मुख्यालय में तैनात हैं। इस प्रकार, अब तक अपर्णा ने दुनिया भर में छह महाद्वीपों के सबसे ऊँचे छह पर्वत चोटियों पर चढ़ाई कर ली थी और अब माउंट डेनाली की चढ़ाई कर , उन्होंने सफलतापूर्वक दुनिया की सातो ऊँची चोटियों की चढ़ाई कर ली हैं।

अपर्णा कुमार ने अमेरिका के अलास्का में माउंट डेनाली की चढ़ाई पूरी कर ली है, और इस चढ़ाई के साथ अब वो सिर्फ आईपीएस अधिकारी और डीआईजी ही नहीं बल्कि उत्तरी अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी चढ़ने वाली और सात शिखर की चढ़ाई को पूरा करने वाले पहले आईपीएस अधिकारी भी बन गई है।

अपर्णा कुमार को जानिए

  1. कुमार इससे पहले लखनऊ में टेलीकॉम की डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल (डीआईजी) के रूप में काम कर चुकी हैं।
  2. वह माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने के बाद अंटार्कटिका की सबसे ऊंची चोटी माउंट विंसन मासिफ पर चढ़ाई करने वाली पहली महिला अधिकारी हैं।
  3. उन्हें हमेशा से पहाड़ बहुत पसंद थे। वह 2013 में मनाली में एक महीने के लिए अटल बिहारी वाजपेयी इंस्टीट्यूट ऑफ माउंटेनियरिंग और एलाइड स्पोर्ट्स में एक शुरूआती पर्वतारोहण पाठ्यक्रम में शामिल हो गई, जिसके बाद उन्होंने 2014 में आगे का कोर्स किया।
  4. अलग -अलग देशों के पर्वतारोहियों की 10-सदस्यीय टीम द्वारा नियुक्त, अपर्णा ने जनवरी 2017 में -35 डिग्री तापमान पर माउंट विंसन मासिफ पर तिरंगा और उत्तर प्रदेश पुलिस सेवा का झंडा लहराया।
  5. उनके समूह के लोगो को नौ दिनों के लिए एक दूसरे से अलग कर दिया गया था। हल्की ठण्ड से पीड़ित होने और छह किलो से अधिक वजन कम करने के बाद, अपर्णा 5 फरवरी को भारत लौट आईं और धीरे-धीरे ठीक हो गईं।
  6. उनके कुछ कारनामे हैं: अगस्त 2014 में माउंट किलिमंजारो पर चढ़ना, अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी। उसी वर्ष नवंबर में, वह इंडोनेशिया के पश्चिम पापुआन प्रांत में कारस्टेंस पिरामिड शिखर पर, ऑस्ट्रेलिया की सबसे ऊंची चोटी और ओशिनिया क्षेत्र में थी। यह सब उपलब्धियाँ हासिल करने वाले पहली आईपीएस अधिकारी के रूप में फिर से पुरस्कृत किया गया।
  7. मार्च 2015 में, उन्हें यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा उनकी उपलब्धियों के लिए ‘रानी लक्ष्मी बाई पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया।
  8. गणतंत्र दिवस, 2016 को, अपर्णा को उनकी उल्लेखनीय उपलब्धियों के लिए विशेष डीजीपी कमिशनेशन डिस्क से भी सम्मानित किया गया।

Recent Posts

Deepika Padokone On Gehraiyaan Film: दीपिका पादुकोण ने कहा इंडिया ने गहराइयाँ जैसी फिल्म नहीं देखी है

दीपिका पादुकोण की फिल्में हमेशा ही हिट होती हैं , यह एक बार फिर एक…

4 days ago

Singer Shan Mother Passes Away: सिंगर शान की माँ सोनाली मुखर्जी का हुआ निधन

इससे पहले शान ने एक इंटरव्यू के दौरान जिक्र किया था कि इनकी माँ ने…

4 days ago

Muslim Women Targeted: बुल्ली बाई के बाद क्लबहाउस पर किया मुस्लिम महिलाओं को टारगेट, क्या मुस्लिम महिलाओं सुरक्षित नहीं?

दिल्ली महिला कमीशन की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने इसको लेकर विस्तार से छान बीन करने…

4 days ago

This website uses cookies.