न्यूज़

एक केरल सिविक बॉडी 5,000 मेंस्ट्रुअल कप महिलाओं को मुफ्त में उपलब्ध करवाएगी

Published by
Ayushi Jain

शायद पहली बार , देश में एक सिविक बॉडी महिलाओं के लिए मुफ्त में मेंस्ट्रुअल कप दे रहा है । केरल में अलप्पुझा नगरपालिका ने नॉन-बायोडिग्रेडेबल सैनिटरी पैड के बजाय इन कप के उपयोग को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से “प्रोजेक्ट थिंकल” लॉन्च किया है।

कार्यक्रम के पहले चरण के दौरान, 5,000 मेंस्ट्रुअल कप महिलाओं को मुफ्त में उपलब्ध करवाए जाएंगे। 280 कप पहले ही दिए  जा चुके हैं – लॉन्च के दो दिन बाद, नगरपालिका सचिव जामगीर एस ने एक्सप्रेस को बताया।

केरल में अलप्पुझा नगरपालिका ने नॉन-बायोडिग्रेडेबल सैनिटरी पैड के बजाय इन कप के उपयोग को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से “प्रोजेक्ट थिंकल” लॉन्च किया है।

“थिंकल एक संयुक्त व्यवसाय है जहां सिविक बॉडी ने एचएलएल लाइफकेयर लिमिटेड (पूर्व में हिंदुस्तान लेटेक्स लिमिटेड) के साथ हाथ मिलाया है, जो कप बनाते हैं। यह प्रोजेक्ट सीएसआर इनिशिएटिव ऑफ कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) द्वारा फण्ड हासिल करती है जो की एक अन्य सरकारी कंपनी है।

“एक औसत महिला एक वर्ष में कम से कम 156 नैपकिन का उपयोग करती है, जबकि एक मेंस्ट्रुअल कप का उपयोग पांच या छह वर्षों के लिए किया जा सकता है। अगर 5,000 महिलाएं कप का उपयोग करना शुरू कर देती हैं, तो लगभग 39 लाख पैड का उपयोग करने से बचा जा सकता है,” जामहगेर ने कहा।

“मासिक धर्म कप सैनिटरी पैड की तुलना में बहुत स्वच्छ और सुविधाजनक हैं। लेकिन वे केवल ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध हैं। लेकिन फिर एचएलएल आगे आया और हमारे लिए उन्हें बनाने के लिए सहमत हुआ। हम परियोजना के फंड्स के लिए सीआईएल के भी आभारी हैं।” उन्होंने कहा।

एच एल एल -अलप्पुज़ः नगर पालिका कामाडारी 2018 की बाढ़ को याद करते हुए , एक आपदा जिसने जिले को गंभीर रूप से प्रभावित किया। हजारों लोगों को उनके घरों से बेघर कर दिया गया था और अकेले नगर पालिका सीमा में लगभग 47 रिलीफ कैंप खोले गए थे और उस समय कैंप से सैनिटरी पैड को डिस्पोज़ करना स्थानीय अधिकारियों के लिए एक बड़ी चिंता का विषय था, फिर एचएलएल ने उन्हें जलाने के लिए इनकैन्टर का उपयोग किया।

कप नगर पालिका कार्यालय के सामने और कुदुम्बश्री / सीडीएस कार्यालय काइचोंडी जंक्शन पर उपलब्ध हैं।

“हमारा उद्देश्य इस अभियान को एक बड़ी सफलता बनाना है जिससे पूरा देश इसे अपना सकता है। इसे बीच में कहीं रोका नहीं जाएगा। हम अपनी सीमा में पूरी महिला-आबादी तक पहुंचने की कोशिश करेंगे,” नगरपालिका अध्यक्ष थॉमस जोसेफ ने कहा।

Recent Posts

महिलाओं के राइट्स: क्यों सोसाइटी सिर्फ महिलाओं की ड्यूटीज से ही रहती है ऑब्सेस्ड?

आज भी सोसाइटी में कई लोगों का ये मानना है कि महिलाओं की सबसे पहली…

1 hour ago

रायसा लील: 13 साल में ओलिंपिक पदक जीतने के बाद सामने आया ये पुराना वायरल वीडियो

टोक्यो ओलंपिक्स में स्केटबोर्डिंग में इस साल ब्राज़ील की रायसा लील ने रजत पदक जीता…

2 hours ago

बंगाल की महिलाओं से जबरजस्ती पोर्न शूट कराया गया, मामला राज कुंद्रा से जुड़ा है

इन में से एक महिला ने कहा कि यह वीडियोस कई वेबसाइट पर पोस्ट की…

4 hours ago

क्यों टूटती हुई शादियों को नहीं मिलती है सोसाइटी की एक्सेप्टेन्स?

हमारे देश में सदियों से शादी को एक "पवित्र बंधन" माना गया है जिसका हर…

4 hours ago

हैप्पी बर्थडे कुब्रा सेठ, जानिए एक्ट्रेस कुब्रा सेठ के बारे में 5 बातें

कुब्रा सेठ इनके कक्कू के रोल के लिए फेमस हैं जो कि सेक्रेड गेम्स में…

4 hours ago

मुंबई: डॉक्टर ने ली थी टीके की दोनों खुराक फिर भी दो बार कोविड रिपोर्ट आई पॉजिटिव

मुंबई के एक 26 वर्षीय डॉक्टर की 13 महीनों में तीन बार पॉजिटिव रिपोर्ट आई…

5 hours ago

This website uses cookies.