न्यूज़

ऐश्वर्या पिस्से ने भारत का पहला विश्व मोटरस्पोर्ट टाइटल जीता

Published by
Ayushi Jain

ऐश्वर्या पिस्से ने, एफआईएम बाजास वीमेन’स वर्ल्ड कप जीतने वाली पहली भारतीय बनकर इतिहास रच दिया है। 23 वर्षीय बाइकर ऐश्वर्या ने बेंगलुरू में चैंपियनशिप के चौथे और आखरी दौर में हंगरी बाजा में चौथे स्थान पर रहने के बाद यह उपलब्धि हासिल की, जो 9 से 11 अगस्त के बीच वारापोटा, हंगरी में आयोजित की गई थी।

ऐश्वर्या पिस्से ने, एफआईएम बाजास वीमेन’स वर्ल्ड कप जीतने वाली पहली भारतीय बनकर इतिहास रच दिया है।

खिताब जीतने की ऐश्वर्या की यात्रा दुबई में शुरू हुई थी, जहां उन्होंने चैम्पियनशिप का पहला राउंड जीता था। वह पुर्तगाल में तीसरे और स्पेन में पांचवें स्थान पर रही। चार राउंड क्रॉस कंट्री रैली में उनके कुल स्कोर के आधार पर, उन्हें विनर घोषित किया गया।

चैंपियनशिप के आखरी राउंड  के लिए जाने से पहले, ऐश्वर्या ने कहा था, “हंगेरियन बाजा में जाने से, मैं विश्व कप में क्वालीफाई करने के बाद पिछली बार की तुलना में बेहतर प्रदर्शन करने की उम्मीद कर रही हूँ। यह आसान नहीं होगा क्योंकि मुझे लगभग 590 किलोमीटर के अलग -अलग रास्तों से गुज़ारना पड़ा, लेकिन मैं चुनौती के लिए तैयार हूं। स्पेन में आखिरी राउंड के बाद, मैं वापस ट्रेनिंग करने लगी। इसलिए, मैंने अपनी ट्रेनिंग पर खूब मेहनत की है । मेरा ध्यान यहां अच्छा प्रदर्शन करने पर होगा और नतीजे जल्द सामनेआएंगे। ”

पिस्से ने कई भारतीय रैली चैंपियनशिप भी जीती हैं। अकेले 2017 में, पिसने ने भाग लिया और कई रैलियों में जीत हासिल की जिसमें राईड डी हिमालय 2017, दक्षिण डेयर 2017, इंडियन नेशनल रैली चैम्पियनशिप (आईऍनआरसी ), 2017 और टीवीएस अपाचे लेडीज वन मेक चैम्पियनशिप 2017 भी शामिल हैं।

रेस से पहले अपनी पिछली चोटों को याद करते हुए, उन्होंने कहा, “मेरी साथ दो बड़ी दुर्घटनाएँ हुई हैं। एक जिसमें मैंने 2017 में अपने कॉलर की हड्डी को चोट पहुंचाई थी और फिर मै बहुत खराब तरीके से गिरी थी और 2018 में मेरे पैन्क्रीअस में चोट आयी थी। मेरी सर्जरी हुई और दो महीने तक अस्पताल में रही। अस्पताल में एक दिन भी नहीं हुआ था कि मुझे लगा कि मैं फिर से कभी दौड़ नहीं पाऊंगी । उस घटना ने मुझे कभी हार न मानने का महत्व सिखाया।

बाजा आरागॉन रैली में भाग लेने वाली पहली भारतीय महिला

2018 में, टीवीएस रैली फैक्ट्री ने उनके नाम की घोषणा करने के बाद ऐश्वर्या पिस्सा बाजा आरागॉन रैली के लिए टीम में शामिल होने वाली पहली भारतीय महिला भी बन गईं। ऍनडीटीवी से बात करते हुए, उन्होंने कहा, “यह मेरी पहली अंतर्राष्ट्रीय रैली होगी और मुझे यह अवसर देने के लिए टीवीएस रेसिंग का आभारी होने के साथ-साथ मै बहुत खुश हूं। बाजा आरागॉन किसी भी रेसर के लिए एक अच्छा ट्रेनिंग ग्राउंड है जो डाकर पर अपने टूरिस्ट स्पॉट्स को निर्धारित करता है, क्योंकि यह अंतरराष्ट्रीय प्रतिभाओं के बीच अपने सूक्ष्म परीक्षण करता है। मैं शेरको टीवीएस रैली फैक्टरी टीम से अनुभवी अंतर्राष्ट्रीय चैंपियंस के साथ दौड़ के लिए उत्साहित हूं। अंत में आरटीआर 450 का अनुभव करने की संभावना चुनौतीपूर्ण है लेकिन मैं मोटरसाइकिल पर समय का ध्यान से मैनेज करने और अपनी तकनीकों को पूरा करने के लिए तत्पर हूं। ”

Recent Posts

शादी का प्रेशर: 5 बातें जो इंडियन पेरेंट्स को अपनी बेटी से नहीं कहना चाहिए

हमारे देश में शादी का प्रेशर ज़रूरत से ज़्यादा और काफी बार बिना मतलब के…

11 hours ago

तापसी पन्नू फेमिनिस्ट फिल्में: जानिए अभिनेत्री की 6 फेमस फेमिनिस्ट फिल्में

अभिनेत्री तापसी पन्नू ने बहुत ही कम समय में इंडियन एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में अपनी अलग…

11 hours ago

क्यों है सिंधु गंगाधरन महिलाओं के लिए एक इंस्पिरेशन? जानिए ये 11 कारण

अपने 20 साल के लम्बे करियर में सिंधु गंगाधरन ने सोसाइटी की हर नॉर्म को…

12 hours ago

श्रद्धा कपूर के बारे में 10 बातें

1. श्रद्धा कपूर एक भारतीय एक्ट्रेस और सिंगर हैं। वह सबसे लोकप्रिय और भारत में…

13 hours ago

सुष्मिता सेन कैसे करती हैं आज भी हर महिला को इंस्पायर? जानिए ये 12 कारण

फिर चाहे वो अपने करियर को लेकर लिए गए डिसिशन्स हो या फिर मदरहुड को…

14 hours ago

केरल रेप पीड़िता ने दोषी से शादी की अनुमति के लिए SC का रुख किया

केरल की एक बलात्कार पीड़िता ने शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख कर पूर्व कैथोलिक…

16 hours ago

This website uses cookies.