“आजकल जहां लड़कियों को घर बैठकर चूल्हा- चौंका सँभालने को कहा जाता है वही मेरे माता पिता ने मुझे पढ़ने- लिखने के लिए बहुत ही शांत वातावरण दिया ताकि मैं पढ़ाई में अपना पूरा ध्यान दे सकू । ” कहना है उत्तर प्रदेश के बड़ौत के एक किसान की बेटी का जो कोटा जाकर एंट्रेंस परीक्षा की तैयारी करना चाहती है।

image

उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के एक कस्बे बड़ौत के एक किसान की बेटी तनु तोमर उत्तर प्रदेश मध्यम शिक्षा परिषद (यूंपीएमसपी) की कक्षा 12 की परीक्षा में टॉपर बनकर उभरी हैं। उसने न केवल 29 लाख से अधिक विद्यार्थियों में पहला स्थान हासिल किया है, जिन्होंने यूपी बोर्ड 12 वीं परीक्षा 2019 के लिए शामिल हुए थे, बल्कि पिछले दो वर्षों का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है। तनु ने 97.8 प्रतिशत अंक हासिल किए, जो आकाश मौर्य और प्रियांशी तिवारी से अधिक हैं, जिन्होंने 2018 और 2017 की बोर्ड परीक्षा में 93.20 और 96.20 प्रतिशत अंक हासिल किए थे।

17 वर्षीय तनु  मेडिकल स्ट्रीम  से है और कक्षा 11 में भी उसने टॉप किया था। उनका प्रदर्शन पूरे वर्ष के दौरान लगातार अच्छा रहा है; इतना कि उसके शिक्षकों ने उसके पूरे राज्य में टॉप रैंक हासिल करने की  भविष्यवाणी की थी। वह एक डॉक्टर बनना चाहती है, हालांकि, वह राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (ऍनईईटी) 2019 के लिए उपस्थित नहीं होगी और इसके बजाय मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए एक साल छोड़ने का फैसला किया है। वह कोटा जाकर एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करना चाहती है ताकि पहली बार में ही परीक्षा पास कर सके।

इंडियनएक्सप्रेस.कॉम से बात करते हुए उसने कहा, “मैं परीक्षा में अपना सर्वश्रेष्ठ शॉट देना चाहती हूं। मैं पूरे साल तैयारी करूंगी। मैं परीक्षा के लिए कोचिंग के लिए कोटा जाने की योजना बना रही हूं। मैंने अभी तक यह तय नहीं किया है कि मैं किस मेडिकल कॉलेज में प्रवेश करना चाहती  हूं। हम इनके जज़्बे को सलाम करते हैं.

Email us at connect@shethepeople.tv