एन्त्रेप्रेंयूर्शिप की जर्नी आसान नहीं है। और यदि आप एक महिला हैं, तो बाधाएं कई गुना बढ़ जाती हैं क्योंकि एक महिला के रूप में अपनी असुरक्षाओं पर काबू पाने के साथ – साथ आपको खुद को एक एन्त्रेप्रेंयूर के रूप में स्थापित करने के दोहरे संघर्ष से गुज़ारना होता है। लेकिन एक बार आप इन बाधाओं को पार कर लेती हैं, तो हर दिन आगे बढ़ने और सीखने का अवसर लगता है।

image

शीदपीपल.टीवी ने 5 महिला एन्त्रेप्रेंयूर्स से यह जानने के लिए बात की कि इतने सालों की जर्नी के बाद वह अपने युवा रूप को क्या संदेश देना चाहेंगी.

स्वयं पर विश्वास करें

“आपको ये समझ लेना चाहिए कि जिस चीज़ में आप अपना मन और दिमाग लगा लें, आप उसके काबिल हैं। एक आईटी मास्टर्स ग्रेजुएट और अब एक सामाजिक एंटरप्रेन्योर के रूप में, लोग मुझे कुछ भी करने के लिए बुद्धिमान और सक्षम मानते हैं। हमेशा से शर्मीली और इंट्रोवर्ट होने के कारण मैंने हमेशा से खुद को ऐसे व्यक्ति के रूप में देखने के लिए संघर्ष किया है जो एक मेल-डॉमिनेटिंग समाज में सफल हो सकती है; और ऊपर से एक व्यवसाय के फाउंडर के रूप में तो और भी मुश्किल। काश मैंने अपने आप में बहुत पहले विश्वास कर लिया होता”- ठोकोजिले मंगवीरो , हेयर केयर और एफएमसीजी एंटरप्रेन्योर, फाउंडर, नाएला नेचुरल्स

पढ़िए: बेटों और बेटियों को एक ही संदेश दें, कहती हैं अनु आगा

आत्मसंतुष्ट मत हो

जिस समय आपको लगे कि आप काफी अच्छा कर रही हैं, अपने आप से कहिए कि कुछ तो है जो सही नहीं है। आत्मसंतुष्ट मत हो। अपने आप को आज़माएँ और जोखिम लेने के लिए अपने अंदर शक्ति का निर्माण करें। – शैली चोपड़ा, फाउंडर, शीदपीपल.टीवी, इंडिया

साहसिक और निडर बनो।

अपने इंस्टिंक्टस पर भरोसा करें. अपनी आवाज़ सुनाई देने वाली बनाएं। हमारी आवाज़ सुनी दे जाए, इस इच्छा के सामने और कुछ इसके जितना दर्दनाक नहीं होता, लेकिन हम डरे हुए हैं और इसलिए हम चुप हैं – यह काफी हद्द तक इस बात का कारण है कि मुझे लेखन में अपनी आवाज मिली। यहां तक ​​कि बालिग होने के बाद भी, कुछ ऐसे क्षण होते हैं जब मैं खुद को याद दिलाती हूँ कि मुझे बोलना है। – फुमेजा मजीद्यूम, अफ्रीका में संचार विशेषज्ञ

पढ़िए: बेटों और बेटियों को एक ही संदेश दें, कहती हैं अनु आगा

सफलता को गले लगाएं

मेरी सलाह यह होगी कि कभी किसी के लिए पीछे नही हटना है, कम्फर्टेबले रहें और अपनी सफलता को गले लगाएं। मैं लोगों को खुश करने में लगी रहती थी और जब मैंने देखा कि मेरी छोटी – सी सफलता ने किसी को असुविधा महसूस हुई है तो मैं जल्दी से जीवन के पर्दे के सॉफ़्टवेयर के पीछे चली जाती थी और अपनी आवाज को मूक कर देती थी। – रेबेका मुन्युकी, परफॉरमेंस मार्केटिंग लीडर, आईबीएम सुरक्षा और कॉमर्स सलूशन – मध्य पूर्व और अफ्रीका क्षेत्र

आगे बढ़ते रहो

गलतियाँ जीवन का एक हिस्सा हैं और मैंने जो गलतियां की हैं, उन्होंने मुझे वहाँ पहुंचने में मदद की है जहाँ मैं आज हूँ। इसलिए, एकमात्र सलाह जो मैं खुद के युवा रूप को देना चाहूंगी वो है आगे बढ़ते रहना! – परुष्णी अग्रवाल, स्टूडियो सीआरईओ.

पढ़िए : एक नए अंदाज़ के साथ घर की सजावट करती प्रेरणा दुगर से मिलिए

 

Email us at connect@shethepeople.tv