दिल्ली विधानसभा ने सोमवार को बसों और मेट्रो ट्रेनों में महिला यात्रियों के लिए मुफ्त यात्रा के लिए 290 करोड़ रुपये की सरकार की मांग को मान लिया है।

image

सिसोदिया द्वारा दी गई मांगों के अनुसार, सरकार ने दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) बसों और क्लस्टर बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा के लिए 140 करोड़ रुपये निर्धारित किए हैं, जबकि मेट्रो ट्रेनों में 150 करोड़ रुपये निर्धारित किये जाएंगे । 

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बसों में मार्शल की तैनाती के लिए 142 करोड़ रुपये और क्षेत्रीय रैपिड ट्रांजिट सिस्टम कॉरिडोर के लिए 47 करोड़ रुपये की मांगों के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी, जिसे वोटों की आवाज के साथ मंजूरी दी गई थी।

सिसोदिया द्वारा दी गई अनुदान की अनुपूरक मांगों के अनुसार, सरकार ने दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) बसों और क्लस्टर बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा के लिए 140 करोड़ रुपये निर्धारित किए हैं, जबकि मेट्रो ट्रेनों में 150 करोड़ रुपये।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में घोषणा की थी कि 29 अक्टूबर से महिलाओं के लिए डीटीसी और क्लस्टर बसों की सवारी मुफ्त होगी।

इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री ने इस साल 15  अगस्त को रक्षाबंधन के मौके पर कहा था की  वह दिल्ली की महिलाओं को रक्षाबंधन के मौके पर एक अनोखा तोहफा देना चाहते है उनकी डीटीसी बसों की सवारी महिलाओं के लिए मुफ्त करवाने के प्रस्ताव को मंज़ूरी मिल गई है और ये 29 अक्टूबर, 2019  से लागू होगा

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बसों में मार्शल की तैनाती के लिए 142 करोड़ रुपये और क्षेत्रीय रैपिड ट्रांजिट सिस्टम कॉरिडोर के लिए 47 करोड़ रुपये की मांगों के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी।

सिसोदिया ने कहा कि सार्वजनिक परिवहन की बसों में मुफ्त सवारी योजना जल्द ही लागू की जाएगी, लेकिन मेट्रो ट्रेनों के मामले में कुछ समय लगेगा क्योंकि दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) को इसके लिए अभी काफी तैयारी की ज़रूरत है ।

Email us at connect@shethepeople.tv