न्यूज़

नासा ने 2024 तक पहली महिला को चंद्रमा पर उतारने की योजना बनाई

Published by
Ayushi Jain

राष्ट्रपति ट्रम्प द्वारा एजेंसी के बजट में फण्ड इकट्ठा होने के कारण नासा 2024 तक पहली महिला और लगभग पांच दशकों के बाद चंद्रमा पर पहले आदमी को भेजने की योजना बना रहा है।

केवल 12 मनुष्य में से सभी पुरुष ही अब तक चंद्रमा पर गए हैं और वे सभी अमेरिकी थे, बेटटीना इन्क्लान, नासा के कम्युनिकेशन डायरेक्टर के अनुसार। सभी 12 पुरुष अमेरिकी थे।

आखिरी व्यक्ति 1972 में चंद्रमा पर गया था ,” इन्क्लान ने एक बयान में सीएनएन को बताया। “कोई भी महिला चन्द्रमा की ज़मीन पर कभी नहीं चली।”

ट्रम्प ने सोमवार को घोषणा की कि वह नासा के बजट में $ 1.6 बिलियन बढ़ा रहे हैं “ताकि हम एक बड़े पैमाने पर अंतरिक्ष में लौट सकें!”

“मेरे प्रशासन के तहत, हम एक नयी खोज कर सके और हम चंद्रमा, फिर मंगल पर वापस जा रहे हैं,” उन्होंने ट्वीट किया।

बजट में बढ़ोतरी चंद्र ग्रह की ज़मीन पर वापसी को तेज करने के लिए नासा के अनुरोध के बाद हुई है। पहले 21 बिलियन डॉलर के बजट के बाद अब बढ़ोतरी की गई है।

नासा के प्रशासक जिम ब्रिडेनस्टाइन ने कहा, “यह निवेश नासा के प्रयासों पर एक डाउन पेमेंट है जिससे हमें डिजाइन, विकास और ऑब्जरवेशन  में आगे बढ़ने की अनुमति मिलेगी ।”

नासा ने सोमवार को घोषणा की कि ट्रम्प ने एजेंसी को 2024 तक चंद्रमा के साउथ पोल पर उतरने की चुनौती दी। यदि वह फिर से चुने जाते हैं तो यह ट्रम्प के कार्यालय के आखरी वर्ष में होगा । दिसंबर 2017 में, ट्रम्प ने अंतरिक्ष नीति निर्देशक 1 पर हस्ताक्षर किए, जिसने 1972 के बाद से पहली बार चंद्रमा को “लंबी अवधि की खोज और उपयोग” और अन्य ग्रहों के मिशनों के लिए मनुष्यों को भेजने के लिए नासा को बुलाया।

अंतरिक्ष एजेंसी ने यह भी बताया कि नए मिशन का नाम आर्टेमिस, चंद्रमा की ग्रीक देवी और अपोलो की जुड़वां बहन होगा। नासा का अपोलो 11 मिशन 20 जुलाई, 1969 को चंद्रमा पर पहले मनुष्यों को उतारने में सफल रहा।

ब्रिडेनस्टाइन ने एक प्रेस कॉल के दौरान कहा, “अपोलो के पचास साल बाद, आर्टेमिस कार्यक्रम अगले मनुष्य और पहली महिला को चाँद पर ले जाएगा।”

नासा ने एक बयान में कहा, “2024 तक अमेरिकी अंतरिक्ष यात्रियों को चंद्रमा पर उतारने के लिए, हम अलग -अलग प्लान्स के साथ ऑब्सेर्वशन्स रखकर काम कर रहे हैं।” “हमारे प्रयासों में नासा केंद्रों में नया काम शामिल होगा, जो कि चन्द्रमा की जमीन के लिए ज़रूरी टेक्नोलॉजी और वैज्ञानिक पेलोड को प्रदान करने के लिए देश भर में पहले से चल रहे प्रयासों को जोड़ रहा है।”

नासा को उम्मीद है कि चंद्रमा के ज़्यादा ऑब्जरवेशन से अमेरिका को अंतरिक्ष में एक फोकस्ड उपस्थिति स्थापित करने में मदद मिलेगी और उनकी अंतरराष्ट्रीय भागीदारी बढ़ेगी। बजट का एक बिलियन डॉलर सीधे एक कमर्शियल ह्यूमन लूनर सिस्टम के विकास के लिए जाएगा जो मनुष्यों को चंद्रमा पर ले जाएगा।

$651 मिलियन का एक आवंटन ओरियन स्पेसक्राफ्ट और रॉकेट को बनाने के लिए किया जाएगा जो बोइंग चंद्रमा मिशन के लिए निर्माण कर रहा है – जिसे स्पेस लॉन्च सिस्टम या एसएलएस कहा जाता है। नासा पहले ही एसएलएस पर कम से कम $ 11.9 बिलियन खर्च कर चुका है, जिसे दिसंबर 2017 तक तैयार हो जाना चाहिए था।

Recent Posts

Tu Yaheen Hai Song: शहनाज़ गिल कल गाने के ज़रिए देंगी सिद्धार्थ को श्रद्धांजलि

इसको शेयर करने के लिए शहनाज़ ने सिद्धार्थ के जाने के बाद पहली बार इंस्टाग्राम…

1 hour ago

Remedies For Joint Pain: जोड़ों के दर्द के लिए 5 घरेलू उपाय क्या है?

Remedies for Joint Pain: यदि आप जोड़ों के दर्द के लिए एस्पिरिन जैसे दर्द-निवारक लेने…

2 hours ago

Exercise In Periods: क्या पीरियड्स में एक्सरसाइज करना अच्छा होता है? जानिए ये 5 बेस्ट एक्सरसाइज

आपके पीरियड्स आना दर्दनाक हो सकता हैं, खासकर अगर आपको मेंस्ट्रुएशन के दौरान दर्दनाक क्रैम्प्स…

2 hours ago

Importance Of Women’s Rights: महिलाओं का अपने अधिकार के लिए लड़ना क्यों जरूरी है?

ह्यूमन राइट्स मिनिमम् सुरक्षा हैं जिसका आनंद प्रत्येक मनुष्य को लेना चाहिए। लेकिन ऐतिहासिक रूप…

3 hours ago

Aryan Khan Gets Bail: आर्यन खान को ड्रग ऑन क्रूज केस में मिली ज़मानत

शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान लगातार 3 अक्टूबर से NCB की कस्टडी में थे…

4 hours ago

This website uses cookies.