मृणालिनी साराभाई: नृत्य और जीवन में अनुग्रह की प्रतीक, चल बसी

Published by
STP Team

शास्त्रीय नृत्यांगना और कोरियोग्राफर पद्म श्री-पद्म भूषण श्रीमती मृणालिनी साराभाई अब नहीं रही.97 वर्ष की इस महान हस्ती के बेटी, मल्लिका साराभाई ने फ़ेसबुक पे पोस्ट किया, “मेरी माँ मृणालिनी साराभाई हूमें छोड़ अपने अनंत नृत्य के लिए चली गयी.” मृणालिनी भारतीय स्पेस प्रोग्राम के पिता, श्री विक्रम साराभाई की धर्मपत्नी थी. वे पिछले कुच्छ दिनों से बीमार थी, और कल उनकी हालत खराब होने पर उन्हे आहेमदबाद के हस्पताल में भारती किया गया, जहाँ उन्होने आज सुबह दम तोड़ा.

इस दुनिया में कई क्षेत्रों में वे अपनी छाप छोड़ गयी हैं, जैसे की पर्यावरण वकालत, नाच, कविता और लेख. आप यहाँ से उनकी कई किताबों की ए-कॉपी मुफ़्त डाउनलोड कर सकते हैं.

वे हमेशा ही भारतीय शात्रय संस्कृति के दिग्गजों में गिनी जाएँगी. उनका पूरा जीवन कला को समर्पित था और उन्होने अपनी हर साँस कला के नाम की थी. उन्होने दर्पण नृत्य अकॅडमी की स्थापना की थी, जहाँ से लगभग 18000 छात्रों ने भरतनाट्यम और कथककाली में तालीम हासिल की. यहाँ कठपुतली, संगीत और नाटक के अलावा कई स्वदेशी संगीत वाद्यंत्र जैसे मृदानगम और बाँसुरी भी सिखाए जाते हैं, और मार्षल आर्ट कलारीपयट्टू भी.

वे आजीवन कला और कलाकारों से जुड़ी रही. वे उस ज़माने में रबींडरनाथ तगॉर के शांतिनिकेतन में पढ़ने वाली चंद महिलाओं में से थी. उन्होने कथकली की तालीम दिग्गज गुरु तकाज़ी कुंचू कुरूप से प्राप्त की.

नृत्य का अर्थ इनके लिए कुच्छ ऐसा था:

“नाच मेरी साँस है, मेरा राग, नाच मैं खुद हूँ. क्या कभी कोई यह शब्द समझेगा? नृत्य और मेरे अस्तित्व में कोई अलगाव नहीं है. यह मेरी आत्मा की चमक है, जिससे मेरे अंग का हर हिस्सा चलता है. जब मैं नाचती हूँ, तो मैं “मैं” होती हूँ, जो मैं हूँ. चुप्पी मेरी प्रतिक्रिया है, नाच मेरा जवाब.”

वे वाकई में एक उत्कृष्ट कृति थी. उनका अनंत नृत्य चलता रहे.

Recent Posts

क्यों सोसाइटी लड़कियों को कुछ बनने से पहले किसी को ढूंढने के लिए कहती है?

क्यों सोसाइटी लड़कियों से हमेशा सही जीवनसाथी ढूंढने की बात ही करती है? आज भी…

46 mins ago

अभिनेता जावेद हैदर की बेटी को फीस ना दे पाने के कारण हटाया गया ऑनलाइन क्लास से

अभिनेता जावेद हैदर की बेटी को उसके ऑनलाइन क्लास से हाल ही में हटाया गया…

2 hours ago

मीरा राजपूत के पोस्टर को मॉल में लगा देख गौरवान्वित हो गए उनके पेरेंट्स

पोस्ट के ज़रिये जो पिक्चर उन्होंने शेयर की है वो उनके पेरेंट्स की है जो…

3 hours ago

सोशल मीडिया ने फिर से दिखाया जलवा, अमृतसर जूस आंटी को मिली मदद

वासन की कांता प्रसाद और बादामी देवी की वायरल कहानी ने पिछले साल मालवीय नगर…

3 hours ago

कोरोना की वैक्सीन लगवाने के बाद क्या नहीं करना चाहिए?

वैक्सीन लगने के तुरंत बाद काम पर जाने से बचें अगर आपको ठीक लग रहा…

4 hours ago

दिल्ली: नाबालिक से यौन उत्पीड़न के केस में 27 वर्षीय अपराधी हुआ गिरफ्तार

नाबालिक से यौन उत्पीड़न केस: उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के शालीमार बाग़ एरिया से एक 27 वर्षीय…

4 hours ago

This website uses cookies.