एशियाई खेलों की गोल्ड मैडल विजेता एथलीट हिमा दास को संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) के भारत के पहले यूथ अम्बेसडर के रूप में नियुक्त किया गया है।

image

यूनिसेफ इंडिया के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर इसकी घोषणा की गई।

“हमारी यूथ एम्बेसडर, हिमा दास से मिलें! एशियाई खेल मैडल विजेता अब यूनिसेफ की यूथ अम्बेसडर है। वह #वर्ल्डचिल्ड्रेन्सडे सेलिब्रेशन के उपलक्ष्य में भारत की पहली यूथ अम्बेसडर बनी है । ” यूनिसेफ ने लिखा है।

अपनी इस उपलब्धि पर विचार करते हुए, स्प्रिंटर हिमा दस ने कहा कि उन्हें इस भूमिका के लिए चुने जाने पर बहुत सम्मानित महसूस हो रहा है और वह आगे और अधिक बच्चों को उनके सपनों को पूरा करने  की उम्मीद देती रहेंगी।

दास ने कहा, “मैं यूनिसेफ इंडिया की यूथ एंबेसडर के रूप में चुने जाने पर सम्मानित महसूस कर रही हूं और मुझे उम्मीद है कि मैं अधिक बच्चों को अपने सपनों को पूरा करने के लिए प्रेरित करती रहूंगी।”

असम के नागांव जिले की  मूल निवासी हिमा दास ने 2018 एशियाई खेलों में महिलाओं की 4 x 400 मीटर रिले रेस में गोल्ड मैडल जीता था।

वो एक महीने में पांच गोल्ड मैडल जीतने वाली पहली एथलिट हैं

उन्होंने महिलाओं की 400 मीटर रेस में 50.59 सेकंड के समय के साथ सिल्वर मैडल भी जीता था।

यूनिसेफ इंडिया यह सुनिश्चित करने के लिए केंद्र सरकार के साथ काम करती है कि इस देश में पैदा होने वाले हर बच्चे को जीवन में सबसे अच्छी शुरुआत मिले और वह अपनी पूरी क्षमता से विकसित हो सके ।

हिमा दस की उपलब्धियाँ

  1. हिमा दास आई ऐ ऐ एफ वर्ल्ड जूनियर चैंपियनशिप में गोल्ड मैडल जीतने वाली पहली भारतीय बनीं।
  2. उन्होंने 2018 एशियाई खेलों में महिलाओं की 4 x 400 मीटर रिले रेस में गोल्ड मैडल जीता।
  3. उन्होंने महिलाओं की 400 मीटर रेस स्पर्धा में सिल्वर मैडल भी जीता था।
  4. वो एक महीने में पांच गोल्ड मैडल जीतने वाली पहली एथलिट बनी ।
Email us at connect@shethepeople.tv